बांसवाड़ा : गणेश महोत्सव के बहाने बच्चों की प्रतिभाओं को निखारने के लिए हो रहे आयोजन, अनूठी परंपरा में ग्रामीण कर रहे सहयोग

By: Varun Kumar Bhatt

Updated On:
11 Sep 2019, 02:12:19 PM IST

 
  • Ganesh Mahotsav In Banswara : गणेश महोत्सव के बहाने बच्चों की प्रतिभाओं को निखारने के लिए हो रहे आयोजन, अनूठी परंपरा में ग्रामीण कर रहे सहयोग

गांगड़तलाई/बांसवाड़ा. गणेश महोत्सव के तहत जिलेभर में आयोजन हो रहे है। इसी बीच गांगड़तलाई गांव में छोटे बच्चों का मनोबल बढ़ाने के लिए एक अनूठी परंपरा शुरू की गई है। गांव के अंबिका चौक और बजरंग चौक में स्थापित गणेश प्रतिमाओं की नियमित भक्तिभाव से सेवा पूजा की जा रही है। वहीं शाम के समय आसपास के बच्चों की प्रतिभाओं के प्रदर्शन के लिए उन्हें मच दिया जा रहा है। यहां पर गणेश महोत्सव के तहत प्रतिदिन बच्चों की प्रतियोगिताएं करवाई जा रही है। जिसमें मटकी फोड़, गुब्बारे फोडऩा, नाटक, नृत्य, कविता, संगीत, कबड्डी, गौरक्षा, कुर्सी दौड़, चम्मच दौड़ जैसी कई प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है।

बांसवाड़ा में यह धातु की गणेश प्रतिमाएं, देती है पर्यावरण और जल संरक्षण का पैगाम...

ग्रामीणों के अनुसार आजकल के बच्चे मोबाइल में इतने व्यस्त रहते है कि वह खेलों और कार्यक्रमों को तवज्जों नहीं देते है। ऐसे में उनकी प्रतिभाओं में निखार नहीं आ पाता है वहीं बड़े होकर यही बच्चे किसी भी कार्यक्रम में भाग लेने से हिचकिचाते है। ग्रामीणों ने बताया कि एक मंच उपलब्ध कराने से बच्चा अपने परिजनों और लोगों के सामने प्रदर्शन करता है जिससे उसका दिल-दिमाग खुलता है। वहीं प्रतियोगिताओं में बच्चों के परिजनों को भी शामिल किया जा रहा है। गांव में गणेश महोत्सव के दिनों में इन प्रतियोगिताओं पर ग्रामवासी खर्च भी कर रहे है।

Updated On:
11 Sep 2019, 02:12:19 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।