संभावित सूखे से निपटने की करें तैयारी : मंजुनाथ

By: Shankar Sharma

Published On:
Sep, 12 2018 05:52 AM IST

  • जिले में इस बार फिर सूखे के आसार नजर आ रहे हैं। लिहाजा जिला पंचायत के अधिकारियों को सूखे से निपटने के लिए अभी से कार्ययोजना तैयार करनी होगी।

चिकबल्लापुर. जिले में इस बार फिर सूखे के आसार नजर आ रहे हैं। लिहाजा जिला पंचायत के अधिकारियों को सूखे से निपटने के लिए अभी से कार्ययोजना तैयार करनी होगी। जिला पंचायत अध्यक्ष एच.वी. मंजुनाथ ने यह बात कही।


मंगलवार को जिला पंचायत के सभागार में विकास कार्यों की मासिक समीक्षा बैठक में उन्होंने कहा कि इस वर्ष भी जिले के सभी तहसीलों में अपेक्षित स्तर पर बारिश नहीं हुई है। परिणामस्वरूप अगस्त माह में ही जिले के कई गांवों को टैंकर से पेयजल आपूर्ति करने की नौबत आ गई है।


बैठक में कृषि विभाग के अधिकारियों ने ब्योरा सौंपते हुए कहा कि जिले में गत वर्ष जून से अगस्त माह तक 393 एमएम बारिश हुई थी, लेकिन इस वर्ष 335.4 एमएम यानी 15 फीसदी बारिश कम हुई है। जुलाई में 60 फीसदी तो अगस्त माह में 63 फीसदी कम बारिश दर्ज हुई है। इस वर्ष जिले में 1 लाख 54 हजार हेक्टेयर भूमि में बुवाई का लक्ष्य निर्धारित किया था, लेकिन 89 हजार 385 हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई संभव हुई है। सिंचाई के अभाव में 60 फीसदी बुवाई विफल रही है। 14 हजार 300 किसानों ने फसल बीमा योजना के लिए पंजीयन करवाया है।


67 गांवों में पेयजल आपूर्ति में समस्या है। इनमें से 30 गांवों को टैंकर से तथा 37 गांवों को निजी नलकूपों के माध्यम से पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है। जिले में शुद्ध पेयजल आपूर्ति की 609 इकाइयां स्थापित होंगी, इनमें से 523 इकाइयों का निर्माण कार्य पूरा हो गया है। बाकी का निर्माण कार्य इस माह के अंत तक पूरा होगा। जिले में मवेशियों के लिए चारे की मांग बढ़ रही है। जिले में 60 हजार चारे के बंडल की मांग है, इसमें से 11 हजार चारे के बंडलों की आपूर्ति हुई है।


जिपं अध्यक्ष ने कहा कि जिले में देशी नस्ल की गायों के दूध की मांग बढ़ रही है। इसलिए ऐसी गायों के पालन के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। गायों की खरीदी के लिए विशेष सहायता योजना बनाई जा रही है।


उन्होंने कहा कि जिले के आंगनबाडिय़ों के लिए मंजूर शौचालय निर्माण कार्य शीघ्र पूरा किया जाएगा। इसके अलावा जिले के सरकारी स्कूलों के सुरक्षा दीवार के निर्माण पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है।


बैठक में जिला पंचायत की उपाध्यक्ष निर्मला मुनिराजू, जिला पंचायत के मुख्य कार्यकारी अधिकारी गुरुदत्त हेगड़े तथा योजना अधिकारी माधूराम उपस्थित थे।

Published On:
Sep, 12 2018 05:52 AM IST