पति का सिर मुड़वा पीठ पर चोर लिखकर गांव घुमाने वाले पूर्व पति सहित 8 Arrest   

By: Pranayraj rana

Published On:
Dec, 21 2016 08:21 PM IST

  • दूसरे पति के साथ पहुंची पत्नी को पूर्व पति द्वारा बंधक बनाकर मारपीट करने व पीठ पर चोर लिखकर मोहल्ले में घुमाने का मामला
कुसमी. शहडोल से अपने बीमार माता-पिता को देखने अपने मायके पहुंची महिला व उसके दूसरे पति के साथ पूर्व पति व दोस्तों द्वारा बंधक बनाकर पहले मारपीट की गई थी। फिर पति का आधा सिर मुड़वाकर पीठ में चोर लिख दिया था। वहीं पत्नी के भी बाल उन्होंने काट दिए थे।

इस मामले में पति-पत्नी की रिपोर्ट के बाद पुलिस ने पुलिस ने सभी आरोपियों को मंगलवार की रात दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया। जहां से बुधवार को उन्हें न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया है।
victim take police

पति के पीठ पर चोर लिखकर पूरे मोहल्ले में घुमाने के दौरान जब आरोपी उसे लेकर प्री-मैट्रिक कन्या छात्रावास तक पहुंचे तो लोगो को मामले की जानकारी हुई। इसी बीच कुसमी थाने के आरक्षक रिंकू गुप्ता पीडि़त युवक को अपनी बाइक पर बैठाकर थाने पंहुचा। यहां पीछे-पीछे पत्नी भी पहुंची थी और मामले की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने मंगलवार की रात आरोपियों के घर दबिश दी। इसके बाद पुलिस ने प्रदीप नगेशिया, हीरालाल, बिंदेश्वर, राजेश गुप्ता, बिंदेश्वर उर्फ बोया, प्रतिमा उर्फ गुड्डी  पति हीरालाल, राजेश्वरी यादव सभी निवासी कुसमी के खिलाफ  धारा 294, 323, 342, 354, 355, 365, 368, 506, 509, 147, 149, के तहत गिरफ्तार कर बुधवार को न्यायिक रिमांड में जेल भेज दिया है।
when accused walking victim in market

कार्रवाई में तात्कालिक थाना प्रभारी राजेंद्र साहू, एएसआई बालेश्वर महानंदी, सुमेश्वर टोप्पो, महिला प्रधान आरक्षक गुल्फी तिर्की, महिला आरक्षक नमिता किंडो, आरक्षक प्रदीप यादव, शैलेंद्र तिवारी, अरविंद सोनवानी, जमुना बड़ा, केशव मौर्य, सुनीत कुजूर, संदीप कुजूर, संत राम वर्मा, रिंकू गुप्ता शामिल रहे।

 मंगलवार को वापस जाने वाले थे शहडोल
 पीडि़त धनीराम ने बताया कि वे मंगलवार की दोपहर को वे पियारटोली से वापस सहडोल जाने वाले थे किंतु इससे पूर्व आरोपी उन्हें पकड़कर कुसमी ले आए। फिर उनके साथ इतनी बड़ी घटना हो गई।

ये था मामला
जानकारी के अनुसार बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के ग्राम बकसपुर पियारटोली निवासी 25 वर्षीय महिला की शादी कुसमी निवासी प्रदीप नगेशिया से पांच वर्ष पूर्व हुई थी। शादी के बाद से ही प्रदीप नगेशिया द्वारा शराब के नशे में धुत होकर आए दिन महिला के साथ मारपीट कर प्रताडि़त किया जा रहा था।

इससे तंग आकर करीब 10 माह पूर्व महिला घर छोड़कर पहले अंबिकापुर पहुंची। यहां से वह ट्रेन में सवार होकर शहडोल पहुंच गई थी और वहां मेहनत मजदूरी कर अपना जीवन बसर कर रही थी। इसी बीच उसकी मुलाकात वहां के धनीराम के साथ हो गई। इसके बाद वे दोनों पति पत्नी के रूप में साथ रहने लगे थे।

इसी बीच कुछ दिन पहले महिला को पता चला कि उसके मां-बाप गांव में बीमार हैं। जिनसे मिलने महिला पति के साथ सोमवार को पियारटोली पहुंची। दोनों के यहां पहुंचने की जानकारी जब उसके पूर्व पति प्रदीप नगेशिया को हुई तो वह आग बबूला हो गया और मंगलवार की सुबह वह अपने अन्य साथियों के साथ चार पहिया वाहन लेकर सीधे पियार टोली गांव पहुंच गया।

उसने महिला व उसके पति के साथ विवाद करते हुए मामले को कुसमी थाना में सुलझाने की बात कर दोनों को जबरन अपनी गाड़ी में बैठाकर कुसमी ले आया। प्रदीप दोनों को अपने घर ले गया और यहां बंधक बनाकर उनके साथ मारपीट की। प्रदीप महिला को वापस अपने साथ रहने पर राजी करना चाह रहा था किंतु वह उसके साथ किसी भी कीमत में नहीं रहना चाहती थी।

महिला ने कहा मैं धनीराम के ही साथ रहूंगी। इससे आक्रोशित होकर प्रदीप व उसके साथियों ने धनीराम की भी बेदम पिटाई की। आरोपियों ने धनीराम की बेदम पिटाई करने के बाद उसका आधा सिर मुड़ा कर उसमें चूना पोत दिया, फिर अंतरवस्त्र छोड़कर पूरे कपड़े उतार दिए।

इसके बाद पत्नी के भी सिर के बाल काट दिए। आरोपियों ने इस अमानवीय कृत्य को अंजाम देने के बाद पति-पत्नी को इसी हालत में पूरे गांव में घूमाया। प्रताडऩा का यह दौर 6 घंटे तक चला था। इस बीच दंपती किसी तरह आरोपियों के चंगुल से मुक्त होकर थाने पहुंचे और रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

Published On:
Dec, 21 2016 08:21 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।