शासन की कोई भी योजनाओं का मिल रहा लाभ, सुविधाओं के लिए तरस रहे ग्रामीण

Deepak Sahu

Publish: Sep, 12 2018 08:00:00 PM (IST)

ग्रामों में बुनियादी सुविधाओं के लिए लोग तरस रहे है।

मैनपुर. तहसील मुख्यालय मैनपुर से 40 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत जांगड़ा, पायलीखण्ड, कुर्रूभाठा, बरगांव, डुमरपड़ाव ग्रामों में पिछले पांच वर्षों से सांसद विधायक जिले के आला अधिकारी नहीं पहुंचे है। इसके कारण इन ग्रामों में बुनियादी सुविधाओं के लिए लोग तरस रहे है।

पायलीखण्ड गांव के धरती के नीचे अपार खनिज संपदा हीरा अलेक्जेंडर बहुमुल्य रत्न भरा पड़ा हुआ है, लेकिन बारिश के पूरे चार माह यहां के निवासियों को नदी पार कर राशन सामाग्री चांवल, दाल नमक, मिट्टी तेल लेने जाना पड़ता है। सरपंच चमारसिंह, रामधर नेताम, देवीसिंग, भुजबल नागेश, विशाल सोरी, जयराम नागेश आदि ग्रामीणों ने बताया कि पायलीखण्ड की बड़ी नदी में बारिश के चार माह कमर तक पानी चलता रहता है।

इसके चलते यह क्षेत्र अन्य क्षेत्रों से कट जाता है। लोगों को जीने के लिए भी संघर्ष करना पड़ता है। ग्रामीणों को राशन सामाग्री के लिए बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है, कभी-कभी गंभीर दुर्घटना का भी अंदेशा बना रहता है। कई बार पुल निर्माण की मांग कर चुके है, यहां विशेष पिछड़ी जनजाति भुंजिया आदिवासी निवास करते है, लेकिन शासन की कोई भी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

स्वास्थ्य सुविधा का हाल बेहाल है। गांव में दर्जन भर लोग सर्दी, खांसी, बुखार से पीडि़त है लेकिन उन्हें दवा उपलब्ध कराने वाला कोई नहीं है। स्वास्थ्य संयोजकों के हड़ताल में चले जाने से स्थिति खराब होती जा रही है। एक पंखवाड़े पूर्व ग्राम पायलीखण्ड में कक्षा सातवीं में पढऩे वाली छात्रा की मौत मलेरिया से हो गई थी। उन्हें समय पर नदी में बाढ़ के कारण अस्पताल नहीं पहुंचाया जा सका था। टाइगर रिजर्व क्षेत्र होने के कारण पक्की सडक़ का निर्माण भी नहीं हुआ है। स्कूलों में शिक्षक व भवन की कमी वर्षों से बनी हुई है।

गांव के हैण्डपंपों में आयरन युक्त पानी आने के कारण इसका उपयोग ग्रामीण नहीं कर पा रहे है। मंगलवार को आदिवावी प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री जनक राम ध्रुव ग्रामीणों ने मिलने पहुंचे तो अपनी समस्याएं बताते हुए ग्रामीणों के आंसू छलक उठे। ग्रामीणों के सभी समस्याओं को गंभीरता से सुनकर ध्रुव ने उक्त समस्याओं के समाधान के लिए जरूरत पडऩे पर आंदोलन करने तक की बात कही।

झेल रहे उपेक्षा का दंश
इन ग्रामों के दौरे के बाद ध्रुव ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि तरफ प्रदेश के डॉ. रमन सरकार विकास यात्रा के नाम पर जनता के पैसों का दुरुपयोग किया जा रहा है। मैनपुर विकासखण्ड के पायलीखण्ड, कुर्रूभाठा, जांगड़ा जैसे गांव के लोगों को पीने का पानी उपलब्ध नहीं करा पा रही है। स्वास्थ्य सुविधा के अभाव मे मलेरिया और बुखार का प्रकोप तेजी से बढ़ता जा रहा है। गांव में बिजली नहीं है, क्या यहीं विकास यात्रा है।

ध्रुव ने कहा पिछले पांच वर्षों में सांसद, विधायक तो दूर जिले के आला अधिकारी भी इन ग्रामों में नहीं पहुंच पाए हैं। जबकि जनता समस्याओं के समाधान के लिए अपने सांसद विधायक का इंतिजार कर रहे हैं। इस मौके पर ब्लॉक कांग्रेस महामंत्री रामसिंग नागेश, डोमार साहू मोहित ध्रुव, सरपंच चमारसिंग, कौशिल्या विश्वकर्मा, बिसरूराम यादव, भवानी बाई नेताम, मेहत्तरीन यादव, हरिराम, दुर्गाबाई आदि थे।
गोस्वामी नेताम, फूलबाई नेताम, क्रिया दीवान, दसरी बाई नेताम आदि थे।

More Videos

Web Title "Regardless of the benefits of getting any schemes of governance"