अधिकारियों को सौंपी गई जिम्मेदारियां

By: Mukesh Yadav

Published On:
Sep, 12 2018 08:19 PM IST

  • विधानसभा चुनाव तैयारियों के लिए कलेक्टर ने ली अधिकारियों की बैठक

बालाघाट. विधानसभा चुनाव 2018 के लिए भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के अनुरूप जिले में तैयारियां प्रारंभ कर दी गई है। इसी कड़ी में आज 12 सितम्बर को कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डीव्ही सिंह ने राजस्वए पुलिस एवं अन्य विभागों के अधिकारियों की बैठक लेकर उन्हें महत्वपूर्ण दिशा निर्देश दिए। बैठक में पुलिस अधीक्षक ए जयदेवन, अपर कलेक्टर शिवगोविंद मरकाम, उप जिला निर्वाचन अधिकारी संदीप सिंह, सभी एसडीएम, अनुविभागीय पुलिस अधीकारी मौजूद थे।
बैठक में विधानसभा क्षेत्रों के रिटर्निंग आफिसरों एवं अनुविभागीय पुलिस अधिकारियों को आपस में समन्वय कर अपने क्षेत्र के वलरनेबल एवं क्रिटिकल मतदान केन्द्रों को शीघ्र चिन्हित करने के निर्देश दिए गए। ऐसे क्षेत्र जिनमें मतदाता को मतदान करने से रोकने या एक पार्टी या प्रत्याशी के पक्ष में प्रभावशाली लोगों द्वारा प्रभावित करने की संभावना हो उन्हें वलरनेबल क्षेत्र के रूप में चिन्हित करने एवं स्वतंत्र, शांति पूर्वक व निष्पक्ष मतदान में बाधा डालने की संभावना वाले व्यक्तियों के विरुद्ध प्रतिबंधात्मक कार्रवाई के निर्देश दिए गए।
इसी प्रकार पिछले विधानसभा व लोकसभा चुनाव के मत प्रतिशत के आधार पर क्रिटिकल मतदान केन्द्रों को चिन्हित करने के निर्देश दिए गए। जिन मतदान केन्द्रों पर 75 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ हो, जिन केन्द्रों पर किसी एक प्रत्याशी के पक्ष में 90 प्रतिशत मतदान हुआ हो, जिन केन्द्रों पर परिचय पत्र में फोटो नहीं वाले मतदाताओं एवं गुमशुदा मतदाताओं की संख्या अधिक हो उन्हें क्रिटिकल मतदान केन्द्रों के रूप में चिन्हित करने कहा गया है। अधिकारियों को प्रत्येक विधानसभावार वलरनेबल व क्रिटिकल मतदान केन्द्रों को चिन्हित कर दो दिनों के भीतर निर्धारित प्रपत्र में जानकारी जिला निर्वाचन कार्यालय को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए।
बैठक में आबकारी अधिकारी एवं जिला परिवहन अधिकारी को अवैध शराब की बिक्री एवं वाहनों की जांच सतत रूप से करने के निर्देश दिए। सभी अधिकारियों को ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपेट मशीन का व्यापक प्रदर्शन एवं प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिए गए। जिससे अधिक से अधिक मतदाताओं को व्हीव्हीपेट के बारे में जानकारी मिल सकंे।
बैठक में जिले के सभी 1637 मतदान केन्द्रों पर भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के अनुरूप पुरूष एवं महिला मतदाताओं के लिए अलग-अलग शौचालय, नि:शक्त मतदाताओं के लिए रेम्प, मतदान केन्द्र पर बिजली व पेयजल की शीघ्र व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए।
बैठक में मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को प्रत्येक नगरीय क्षेत्र में दो-दो मतदान केन्द्रों को आदर्श मतदान केन्द्र के रूप में चिन्हित करने एवं उनमें मतदाताओं के लिए निर्वाचन आयोग के मापदंड के अनुसार सभी तरह की सुविधायें उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए। इसी प्रकार जिले के प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में महिला मतदाताओं की अधिक संख्या वाले दो-दो मतदान केन्द्रों को चिन्हित करने के निर्देश दिए गए। ऐसे मतदान केन्द्रों पर महिला मतदान दल एवं महिला सुरक्षा कर्मी ही नियुक्त किए जाएंगे।

Published On:
Sep, 12 2018 08:19 PM IST