दुर्घटना के बाद जब्त वाहन को पुलिस नहीं दे रही

By: Bhaneshwar sakure

|

Published: 12 Oct 2019, 09:03 PM IST

Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

बालाघाट. लालबर्रा थाना क्षेत्र के ग्राम बोट्टे (हजारी) निवासी संतलाल लिल्हारे ने वाहन को सुपुर्दनामे में दिए जाने की मांग की है। पीडि़त के अनुसार वह कनकी स्कूल में शिक्षक के रूप में कार्य कार्यरत है। उनका पुत्र आशीष लिल्हारे अमोली पावर हाउस में मीटर वाचक के रूप में कार्य कर रहा है। 17 सितम्बर 2019 को आशीष मीटर वाचक के कार्य के लिए घर से अमोली जाने के लिए निकला था। तभी बुट्टा में शिव मंदिर के समीप आशीष लिल्हारे की बाइक को एक ऑटो चालक ने ठोकर मार दी। जिसके कारण आशीष घायल हो गया। उसकी बाइक भी क्षतिग्रस्त हो गई। वहीं ऑटो चालक वाहन लेकर मौके से फरार हो गया था। इसके बाद ऑटो चालक ने स्वयं थाने में जाकर उसके पुत्र के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया। वहीं उनकी ओर से भी ऑटो चालक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई। जिस पर पुलिस ने दोनों पर काउंटर मामला दर्ज किया। पुलिस ने बाइक को जब्त कर थाने में खड़ा कर दी। इस मामले में न्यायालय ने वाहन को सुपुर्दनामा में प्रदान किए जाने के आदेश जारी किए। इस आदेश के तहत जब वे 6 अक्टूबर को लालबर्रा थाना पहुंचे तो उन्हें वाहन सुपुर्दनामे में नहीं दिया गया। थाने में पदस्थ प्रधान आरक्षक व आरक्षक द्वारा उनके साथ अभद्रता की गई। वाहन छोडऩे के एवज में राशि की मांग की गई। इसके बाद इस मामले की शिकायत कलेक्टर व एसपी से की गई। उन्होंने मांग की है कि उनका वाहन उन्हें सुपुर्दनामे में प्रदान कर अभद्र व्यवहार करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।