आधा दिन बाजार बंद रख जताया रोष

By: Ramakant Dadhich

Updated On:
20 Mar 2019, 07:07:00 AM IST

  • - भगवा वाहन रैली के रूट का मामला
    - आयोजक झुके ना पुलिस

चौमूं. भगवा वाहन रैली के रूट को लेकर पुलिस प्रशासन और नववर्ष समारोह समिति अपनी-अपनी जिद पर अड़े हुए हैं। ना पुलिस प्रशासन झुकने को तैयार और ना ही समिति के लोग। नतीजतन, शहर में तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है। समझौता वार्ता विफल होने के बाद मंगलवार को हिन्दू नववर्ष समारोह समिति चौमूं के आह्वान पर मंगलवार को आधे दिन तक बाजार बंद रहे। समिति समेत विभिन्न हिन्दू संगठनों के लोग पुलिस प्रशासन के खिलाफ रोष जताते रहे। दूसरी तरफ पुलिस अधिकारियों ने बंद के दौरान जगह-जगह बड़ी तादाद में पुलिस जाप्ता तैनात रखा, जिससे शांति व्यवस्था बनी रही। जानकारी के अनुसार पुलिस थाना परिसर में सोमवार देर शाम भगवा वाहन रैली को लेकर बुलाई गई बैठक में हिन्दू नववर्ष समारोह समिति के लोग रूट नहीं बदलने पर अड़े हुए थे। ये लोग पुलिस प्रशासन के रूख से खफा होकर बैठक को छोड़कर चले गए थे। बाद में थाने के सामने विरोध-प्रदर्शन करने के बाद मंगलवार को आधे दिन के चौमूं बंद का आह्वान किया था। इसका संयुक्त व्यापार मंडल ने भी समर्थन किया, जिसके चलते मंगलवार को बाजारों में व्यापारियों ने सुबह 11.15 बजते ही दुकानें खोलना शुरू कर दिया था, जिससे आमजन को भी परेशानी नहीं हुई। हिन्दू नववर्ष समारोह समिति एवं अन्य हिन्दू संगठनों के लोग टोलियों में बाजारों में घूमते रहे। पुलिस प्रशासन भी चाक-चौबंद रहा।

 

रामधुनी के बाद चौपड़ पर बैठक
चौमूं में चौपड़ पर समारोह समिति के संयोजक मृत्युंजय आत्रे, विश्व हिन्दू परिषद के जिला मंत्री डॉ. मुकेश शर्मा, राष्ट्रीय स्वयं संघ के अटल मेठी, यज्ञदत्त शर्मा, सुरेश गोदारा, राजेश गौरा, संयुक्त व्यापार मंडल के अध्यक्ष पदमचंद जैन, शिवसेना के कानाराम सैनी, मदनलाल नासना, जीएसएस तंवर, हनुमान बागड़ा समेत विभिन्न संगठनों के लोगों ने काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर में सुबह रामधुनी की। इसके बाद ये लोग चौपड़ पर सुबह 10.15 बजे जमा हुए। यहां हुई बैठक में समिति के लोगों ने रैली के रूट के प्रति पुलिस रवैये की निंदा की। वक्ताओं ने कहा कि किसी भी हाल में रैली का रूट नहीं बदला जाएगा। रैली पुराने मार्ग से शांतिपूर्ण तरीके से निकाली जाएगी। वक्ताओं ने कहा कि जब रूट के आस-पास रहने वाले लोगों को रैली से कोई आपत्ति नहीं है तो फिर आखिर किसे आपत्ति है। पुलिस प्रशासन आपत्ति करने वाले लोगों को सामने लाए। करीब 25 मिनट तक चली इस बैठक के बाद समिति के पदाधिकारी व कार्यकर्ता रैली के रूप में रावण गेट स्थित समिति के प्रधान कार्यालय पहुंचे, जहां बंद में समर्थन देने के लिए सभी व्यापार मंडलों का आभार जताया।


सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम
भगवा रैली आयोजकों के बंद के आह्वान के बाद पुलिस प्रशासन ने मंगलवार को सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए। शहर के प्रमुख स्थानों, तिराहे-चौराहों एवं बाजारों में अतिरिक्त जाब्ता तैनात किया गया। पुलिस वाहन घूमते रहे। संकड़ी गलियों व मोहल्लों में बंद के दौरान घुड़सवार पुलिसकर्मी गश्त करते नजर आए, जिसके चलते शहर में शांति-व्यवस्था बनी रही।

धूलंडी महोत्सव मनाएंगे कल
समिति संयोजक आत्रे ने बताया कि हिन्दू नववर्ष समारोह समिति की ओर से सुभाष सर्किल चौमूं पर गुरुवार सुबह 9.15 बजे से धूलंडी महोत्सव मनाने का निर्णय किया है, जिसमें बड़ी संख्या में चौमूं उपखंडक्षेत्र के लोग शामिल होंगे।

 

कई थानों का लगाया जाब्ता
एसीपी चौमूं फूलचंद मीना ने बताया कि बंद के दौरान शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए चौमूं, हरमाड़ा, विश्वकर्मा, वैशालीनगर, चित्रकूट समेत आस-पास के कई पुलिस थानों का जाब्ता एवं संबंधित थानाधिकारी तैनात किए।खुद डीसीपी विकास शर्मा, एडीसीपी बजरंग सिंह, एसीपी रायसिंह बेनीवाल व रेवतदान सिंह, चौमूं थानाधिकारी हेमराज सिंह आदि भी अलर्ट रहे। थाने में सुबह से ही पुलिस अधिकारियों का आना-जाना लगा रहा।

Updated On:
20 Mar 2019, 07:07:00 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।