जेसीबी लगाकर ढहवा दी थीं दुकानें, अब चौकी प्रभारी सहित दर्जन भर के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा

Rafatuddin Faridi

Publish: Sep, 12 2018 09:44:57 PM (IST)

आजमगढ़ में दुकान ढहाने के आरोप में बड़ी कार्रवाई।

आजमगढ़. शहर के सिविल लाईंस पुलिस चौकी के समीप पुलिस की शह मिलने पर दो दुकानों को जेसीबी मशीन से ढहा देने के मामले को पुलिस अधीक्षक ने गंभीरता से लिया है। बीते आठ सितंबर की रात हुई इस घटना के मामले में एसपी ने सिविल लाइन चौकी प्रभारी को निलंबित कर दिया। वहीं पीड़ित दुकानदार की तहरीर पर शहर कोतवाली में मंगलवार को आरोपी चौकी प्रभारी सहित तीन नामजद व दस अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

 

शहर के सिविल लाइंस पुलिस चौकी के समीप एलवल मोहल्ला निवासी राजेंद्र व सुभाष पुत्रगण सूर्यबली गुप्ता दोनों भाई किराए पर दुकान लेकर मिष्ठान का व्यवसाय करते हैं। बीते आठ सितंबर की रात दुकान मालिक स्थानीय चौकी प्रभारी की शह पाकर अपने साथियों के साथ जेसीबी की मदद से दोनों भाइयों की दुकानों को ढहा दिया।

 

इस संबंध में पीड़ित दुकानदार राजेंद्र गुप्ता ने शहर कोतवाली में तहरीर दी लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो सकी। मजबूर होकर पीड़ित व्यवसायी ने पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाई। एसपी ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए सिविल लाइंस चौकी प्रभारी वीरेंद्र यादव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। पीड़ित पक्ष की तहरीर पर मंगलवार को शहर कोतवाली में आरोपी चौकी प्रभारी व दुकान मालिक प्रदीप सिंह कपूर पुत्र मानबहादुर सिंह निवासी मुहल्ला सदावर्ती सहित तीन नामजद एवं दस अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

 

उत्पीड़न से परेशान पीड़ित ने एसपी से लगाई न्याय की गुहार

आजमगढ़. पट्टीदार द्वारा फर्जी मुकदमें में फंसाये जाने को लेकर एक पीड़ित का परिवार बुधवार को पुलिस अधीक्षक से मिलकर न्याय की गुहार लगाई। साथ ही दर्ज मुकदमें से नाम हटाये जाने की मांग किया।

 

महाराजगंज थाना क्षेत्र के गोपालपुर निवासी शिवनयन सिंह पुत्र रामाज्ञा सिंह ने आरोप लगाया कि उसका पट्टीदार से भूमि बटवारे को लेकर वर्षो से विवाद चला आ रहा हैं जिसका मामला तहसील सगड़ी में लंम्बित चल रहा है। इसी बीच बीते 30 अगस्त को पट्टीदार ने महाराजगंज थाने में शिवनयन, राधेश्याम सिंह, सौरभ सिंह पर फर्जी तरीके से मुकदमा दर्ज करा दिया। पीड़ित ने बताया कि राधेश्याम और सौरभ अपने परिवार के साथ काफी दिनों से दिल्ली में रहते हैं। इसके बाद भी उन्हें मुकदमें में नामजद किया गया है।

By Ran Vijay Singh

More Videos

Web Title "FIR against Sub Inspector and 12 Other in Azamgarh"