सवर्णों ने सरकार को दिखाई ताकत, कहा- एससी एसटी कानून के खिलाफ सड़क से संसद तक होगी लड़ाई

By: Akhilesh Kumar Tripathi

Updated On: Sep, 23 2018 09:10 PM IST

  • ओम जी महाराज ने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब निर्दोष सवर्ण के उपर दलित उत्पीड़न का अरोप लगाकर उसे जेल में बन्द कर दिया जायेगा।

आजमगढ़. एससी एसटी एक्ट कानून में बदलाव से नाराज सवर्ण सेना का आंदोलन अब और तेज होता नजर आ रहा है। कोयलसा से लखनऊ तक जन जागरण यात्रा के बाद सवर्णो ने रविवार को कोयलसा ब्लाक परिसर में जनसभा का आयोजन किया। इस दौरान एससी एसटी एक्ट को काला कानून बताते हुए सड़क से संसद तक आंदोलन का अह्वान किया गया। लोगों में केंद्र सरकार के प्रति भारी गुस्सा दिखा।

बता दें कि एससी एसटी में बदलाव के बाद से ही बूढ़नपुर विकास खण्ड के कोयलसा से विरोध शुरू हुआ था। एक्ट के विरोध में 20 दिन पूर्व सवर्णो ने कोयलसा से जनजागरण यात्रा शुरू की जो आजमगढ़, जहानागंज होते हुए लखनऊ तक पहुंची। वहां से लौटने के बाद रविवार को कोयलसा में जनसभा का आयोजन किया गया। जिसमें 1281 लोगों ने भारतीय सवर्ण सेना की सदस्यता ग्रहण की।

मुख्य अतिथि ओम जी महाराज ने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब निर्दोष सवर्ण के उपर दलित उत्पीड़न का अरोप लगाकर उसे जेल में बन्द कर दिया जायेगा। हमें एकजुट व संगठित होने की जरूरत है। अगर कहीं भी हमारे समाज के किसी भी व्यक्ति के खिलाफ एससी एसटी की कार्रवाई होती है तो हम सभी सवर्ण एकजुट होकर जेल भरो आन्दोलन करेंगे। साथ ही सड़क पर उतरकर आंदोलन करेंगे।

लक्ष्मी चौबे ने कहा कि हमें सरकार गुमराह कर रही है, सरकार किसी की हितैषी नहीं है। इस सरकार में बेलगाम मंहगाई ने किसानों व गरीबों की कमर तोड़ दी है। डीजल पेट्रोल, गैस की बढ़ती कीमतों ने किसानों व गरीबों को परेशान कर रखा है। महेन्द्र सिंह ने कहा कि हमें संगठित होकर यह दिखाने की जरूरत है कि हम सवर्ण एकजुट हैं जिससे सरकार हमारे सामने घुटने टेकने को मजबूर हो जाय। ऐसी सरकार को उखाड़कर फेंक देने की जरूरत है, जो हम सवर्णों का सम्मान नहीं कर सकती।

प्रवक्ता संतोष मिश्र ने कहा कि बीजेपी के लोग केवल वोट की राजनीति जानते हैं कभी हमें राम-रहीम के नाम पर बांटा तो आज हमें सवर्ण व दलित के नाम पर बांटनें का काम कर रही है। हिन्दुत्व की बात करने वाले पाखण्डियों ने हमारी आस्था के साथ खिलवाड़ किया है। जिसने हमारे मर्यादा पुरूषोत्तम राम को भी नहीं छोड़ा वह हमें क्या बख्शेगी।

ब्राहमण युवजन सभा के जिलाध्यक्ष शुभम उपाध्याय ने कहा कि जहां ये हिन्दुओं की रहनुमाई की बात करते हैं वहीं हिन्दू विरोधी कानून लाकर हम सभी हिन्दुओं को आपस में लड़ाने का काम कर रहे हैं। हम दलित के विरोधी नहीं हैं, हम उनके भाई हैं लेकिन हम एससी एसटी एक्ट के धुर विरोधी हैं।

इस अवसर पर विद्यानन्द, शत्रुधन दूबे, रूद्र त्रिपाठी, संजय मिश्रा, हरगोविन्द, विजय प्रताप सिंह, शुभम पाण्डेय, शुभम उपाध्याय, अभिषेक उपाध्याय, तन्मय त्रिपाठी, राजू, निर्भय, राजेन्द्र मिश्रा, ठाकुर सिंह, राणा सिंह, रविन्द्र सिंह, देवेन्द्र सिंह, लक्ष्मी चौबे, दुर्गेश तिवारी, शंकर सिंह आदि मौजूद थे।

 

BY- RANVIJAY SINGH

Published On:
Sep, 23 2018 09:10 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।