बड़ी खबर : अयोध्या में सेना के फायरिंग रेंज में ग्रेनेड फटा माँ बेटे की मौत,दो बुरी तरह जख्मी

By: Anoop Kumar

Updated On: Feb, 07 2019 07:56 PM IST

  • ज़ोरदार धमाके के साथ फट गया ग्रेनेड थर्रा उठे लोग दर्दनाक हादसे में बिखर गए शव


अयोध्या : धार्मिक नगरी अयोध्या से एक बेहद दर्दनाक खबर सामने आई है जिसमे सेना के डोगरा रेजीमेंट सेंटर के फायरिंग रेंज से यूज्ड ग्रेनेड ढूंढ कर पीतल निकालना एक परिवार को भारी पड़ गया। ग्रेनेड से पीतल निकालने की कोशिश में एक मां व बेटे मौत के मुंह में समा गए। वहीँ इस हादसे में एक बेटा और बेटी बुरी तरह से जख्मी हुए है । भीषण धमाके के बाद आवाज़ सुनकर आस पास के लोग मदद के लिए पहुंचे और उन्होंने राहत और बचाव कर घायलों को अस्पताल पहुंचाया जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है |

ज़ोरदार धमाके के साथ फट गया ग्रेनेड थर्रा उठे लोग दर्दनाक हादसे में बिखर गए शव

मिली जानकारी के मुताबिक़ अयोध्या जिले के डोगरा रेजिमेंट के आर्मी फायरिंग रेंज में सेना के जवान फायरिंग करते हैं जिसमें ग्रेनेड का भी इस्तेमाल होता है। कुछ ग्रेनेड जो बिना फ़टे ही फायरिंग एरिया में पड़े रह जाते हैं।ये घातक बन जाते हैं। ग्रेनेड में पीतल होता है और आसपास के लोग ग्रेनेड से पीतल निकालकर मार्केट में महंगे दामों बेचकर पैसा कमाते हैं। ऐसी एक घटना कैंट थाना क्षेत्र के निर्मली कुंड में हुई जहां पर एक परिवार के बच्चे आर्मी फायरिंग रेंज से ग्रेनेड ढूंढ के लाए थे जिसमें एक ग्रेनेड विस्फोट नहीं हुआ था उसको तोड़ते समय अचानक विस्फोट हो गया जिसमें एक ही परिवार के मां बेटे की मौत हो गई और एक बेटा और बेटी घायल है जिनका जिलाअस्पताल में इलाज चल रहा है।

पहले भी हो चुके हैं इस तरह के हादसे मारे जा चुके हैं लोग

दरअसल डोगरा रेजिमेंट के माझा इलाके में सेना का फायरिंग रेंज है जहां पर सेना के जवान फायरिंग करते हैं।फायरिंग रेंज में ग्रेनेड के टुकड़े पड़े रहते हैं। कभी कभार ऐसा भी होता है जो ग्रेनेड नहीं फटता है वह भी वहीं पर पड़ा रहता है जिसको कबाड़ी लोग बीन कर लाते हैं और उसको तोड़ कर उसका पीतल निकालकर मार्केट में बेंच देते हैं। हालांकि फायरिंग रेंज में जाने से रोक है लेकिन चुपके से लोग फायरिंग रेंज में पहुंचकर ग्रेनेड के टुकड़े को बीन कर लाते हैं। इस हादसे में निर्नाली कुंड इलाके में रहने वाली महिला रीना व उसके पुत्र राज की मौत हो गयी जबकि उसका दूसरा पुत्र अतुल व बेटी मंजू बुरी तरह से जख्मी है | बताते चलें कि कुछ इसी तरह की घटना में आज से दो वर्ष पूर्व भी एक कबाड़ी की दूकान में धमाका होने से चार लोगों की मौत हो गयी थी |

Published On:
Feb, 07 2019 07:56 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।