करतारपुर पर बैठक से पहले दबाव में पाकिस्तान, खालिस्तान समर्थक गोपाल सिंह चावला की छुट्टी

By: Mohit Saxena

Updated On: Jul, 13 2019 05:29 PM IST

    • Kartarpur corridor: गोपाल सिंह चावला को पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी से हटा दिया है
    • चावला पर कोई कार्रवाई न होने पर पिछली बार भारत ने बैठक रद्द कर दी थी

नई दिल्ली। करतापुर कॉरिडोर की वार्ता परवान चढ़ने से पहले ही पाकिस्तान सरकार ने भारत के दबाव में आकर अहम कदम उठाया है। पाक सरकार ने रविवार को आतंकी हाफिज सईद के खास गुर्गे और खालिस्तान समर्थक गोपाल सिंह चावला को पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी से हटा दिया है।

कॉरिडोर कमेटी का भी सदस्य नहीं है

गौरतलब है कि गोपाल सिंह चावला अब करतारपुर कॉरिडोर कमेटी का भी सदस्य नहीं है। इसके लिए भारत लगातार आवाज उठा रहा था। कॉरिडोर कमेटी में गोपाल सिंह चावला को शामिल करने पर भारत ने सख्त नाराजगी जताई थी। इस मामले को लेकर ही भारत ने पिछली बार बैठक को रद्द कर दिया था। इस बार रविवार को होने वाली अहम बैठक से पहले पाकिस्तान ने मजबूरन यह कदम उठाया। यह बैठक अटारी-वाघा बॉर्डर पर शुरु होने वाली है।

डोकलाम दोहराने की कोशिश? लद्दाख में भारतीय सीमा के अंदर घुसे चीनी सैनिक

आईएसआई से सीधे संबंध

गोपाल सिंह चावला वह नाम है, जिसके संबंध खालिस्तान से जोड़े जाते हैं। उसके आईएसआई से सीधे संबंध बताए जाते हैं। पाकिस्तान में उसके रिश्ते आतंकी हाफिज सईद और जैश सरगना मसूद अजहर से है। यहां तक की पाक पीएम इमरान खान खुद उससे मुलाकात करते हैं। हाल ही में उसकी एक तस्वीर पाक आर्मी चीफ जनरल कमर बाजवा के साथ दिखाई दी।

दुबई बस दुर्घटना: ओमानी ड्राइवर को 9 लाख डॉलर जुर्माना के साथ 7 साल जेल की सजा

भारत ने किया था कड़ा विरोध

भारत को आशंका है कि पाकिस्तान करतारपुर कॉरिडोर के बहाने पंजाब में ऐसे तत्वों की घुसपैठ करा सकता है जो वहां पर अलगाववादी आंदोलन को हवा दे सकते हैं। भारत ने चावला और उसके साथियों का कड़ा विरोध किया था। भारत की नाराजगी के बाद ही पाकिस्तान ने नई कमेटी का एलान किया है। 14 जुलाई को होने वाली बैठक में यात्रियों की सुरक्षा और सुविधा जैसे मुद्दों पर बातचीत होगी।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Published On:
Jul, 13 2019 01:17 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।