बांग्लादेश : कोर्ट से सुनाया 4 आतंकियों को फांसी की सजा, हिंदू पुजारी की गला रेतकर की थी हत्या

By: Ruchi Sharma

|

Updated: 15 Mar 2020, 11:10 PM IST

एशिया

ढाका. हिंदू पुजारी की हत्या के मामले में इस्लामिस्ट आतंकी संगठन जमात उल मुजाहिदीन-बांग्लादेश से जुड़े रहे चार लोगों को फांसी की सजा सुना दी गई है। ये चारों आरोपी हिंदू पुजारी जगनेश्वर रॉय की हत्या के मामले में दोषी पाए गए हैं।

राजशाही के फास्ट ट्रैक ट्रिब्यूनल एक जज अनूप कुमार ने इन चारों के जुर्म को रेयर ओर रेयरेस्ट करार देते हुए इन्हें फंसी कि सजा सुनाई। एक न्यूज चैनल के मुताबिक फैसले के वक़्त कोर्ट में तीन दोषी- जहांगीर हुसैन उर्फ़ रजीब, आलमगीर हुसैन और रमजान अली मौजूद रहे। चौथा आरोपी रजीबुल इस्लाम इस सुनवाई में शामिल नहीं हुआ।

जानिए क्या है पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक 50 वर्षीय जगनेश्वर रॉय सोनापोटा गांव के संत गौरियो मंदिर के प्रमुख महंत थे। 21 फरवरी 2016 को कुछ हथियारबंद लोगों ने उनकी गला काटकर निर्ममता से हत्या कर दी थी। इस घटना से चारों तरफ हड़कंप मच गया था। हत्या से पहले उनकी धारधार हथियारों से पिटाई भी की गई थी। इस दौरान उनके शिष्य गोपाल चंद्र रॉय को भी गोली लगी थी। पर वह बच निकले थे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।