मध्यरात्रि मंदिरों में हुआ विशेष पूजन कन्हा की हिलाई पालकी

By: Rajan Kumar

Updated On:
25 Aug 2019, 03:23:53 PM IST

  • धूमधाम से मनाई गई श्रीकृष्ण जन्माष्टी

अनूपपुर। भाद मास कृष्ण पक्ष के अष्टमी को मनाई जाने वाली श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पावन त्यौहार जिलेभर में शुक्रवार-शनिवार को धूमधाम से मनाय गया। त्यौहार को लेकर भक्तो में जबरदस्त उत्साह रहा। वहीं कान्हा के जन्म को लेकर शुक्रवार की देर रात सभी मंदिरों में ‘नंद के आनंद भयो जय कन्हैंयालाल की, हाथी घोड़ा पालकी जय कन्हैंया लाल की’ की शब्दों से शहर का सारा वातावरण गुंजायमान रहा। मंदिरों में घंटियों के साथ भजन कीर्तन और प्रसाद भोग का दौर चला। भक्तों ने कान्हा के जन्म की खुशी में उनके स्वागत में रातभर रतजागा कर कीर्तन भजन गए। विशेष पूजा अर्चनों का दौर जा रही है। जिसमें भक्तों ने पूजा उपरांत प्रसाद ग्रहण कर अपने व्रत को तोड़ा। इस मौके पर जिले के अनेक स्थानों पर मटकी फोड़ का आयोजन किया गया। इस मौके कोतमा में प्रसिद्ध श्री आदिशक्ति पंचायती मंदिर मे पूर्व से चली आ रही परम्परानुसार भगवान श्री कृष्ण जन्मोत्सव का त्यौहार विधि-विधान एंव भक्ति भाव के साथ मनाया गया। परिसर को लाईटिंग एंव बैलून से आकर्षक ढंग से सजाया गया था। रात 12 बजते ही आतिशबाजी के साथ श्री कृष्ण का जन्मोत्सव परंपरा अनुसार मनाया गया। श्री राधा-माधव मंडली के द्वारा धर्मिक भजनों के साथ श्रद्धालुओं को भक्ति के रस मे सराबोर कर दिया। मंदिर मे छोटे-छोटे बच्चो को भी कृष्ण के रूप में सजाकर जमकर आनंद मनाते देखा गया। जन्माष्टमी कोतमा सहित आस-पास के पूरे कोयलांचल क्षेत्र एंव ग्रामीण अंचलो में श्रद्धा भाव से मनाया गया। त्यौहार को लेकर भक्तो मे जबरदस्त उत्साह रहा।देर रात तक मंदिर पहुच भगवान की भक्ति मे लीन रहे। मंदिर मे महिला श्रद्धालुओ की भारी भीड़ बनी रही। 12 बजते ही मंदिर के घंटे एंव पटाखो की आतिशबाजी से नगर गूजं उठा।

Updated On:
25 Aug 2019, 03:23:53 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।