नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी ने भाजपा में वापसी की रखी शर्त, पढ़िए क्या कहा

By: Bhanu Pratap

|

Published: 06 Aug 2020, 04:12 PM IST

Amritsar, Amritsar, Punjab, India

अमृतसर/मानसा। पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी डॉ. नवजोत कौर सिद्धू के बयान से पंजाब की राजनीति में परिवर्तन के संकेत मिल रहे हैं। उन्‍होंने – ‘भारतीय जनता पार्टी यदि शिरोमणि अकाली दल (शिअद) का साथ छोड़े तो भाजपा में वापसी पर विचार कर सकते हैं।‘ यहां यह भी ध्यान रखें कि डॉ. नवजोत कौर सिद्धू काफी समय से खमोश हैं। ऐसे में उनका यह बयान पंजाब की राजनीति में हलचल मचा सकता है। याद रहे कि नवजोत सिंह सिद्धू अमृतसर से विधायक हैं।

आज भी अपने स्टैंड पर कायम

मानसा के भीखी के डेरा बाबा के गद्दीनशीन बाबा दर्शन मुनि के आश्रम में पत्रकारों से बातचीत में डॉ. नवजोत कौरसिद्धू ने कहा कि वह आज भी अपने स्टैंड पर कायम हैं कि यदि भाजपा अकाली दल का साथ छोड़ दे तो वापसी के बारे में सोचा जा सकता है।

अरविन्द केजरीवाल ने चमत्कारी सुधार किए

डॉ. नवजोत ने आम आदमी पार्टी (आप) के अध्यक्ष और दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तारीफ की। उन्‍होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल जब दिल्‍ली में सत्ता में आए थे तो उन्होंने अपनी सेहत पॉलिसी अरविेंद केजरीवाल के समक्ष रखी थी। इसे मानकर केजरीवाल ने दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक खोले और इसके माध्‍यम से उन्‍होंने वहां सेहत सेवाओं में चमत्कारी सुधार किए।

सिद्धू ने अपनी जेब से करोड़ों खर्च कर गरीबों की मदद की

पति नवजोत सिंह सिद्धू की राजनीति और कांग्रेस में भूमिका पर उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने उनको जो जिम्मेदारी सौंपी, उन्‍होंने बखूबी निभा कि नवजोत सिंह सिद्धू अकेले ऐसे विधायक हैं, जिन्होंने लॉकडाउन के दौरान अपनी जेब से करोड़ों रुपये खर्च कर जरूरतमंद परिवारों को राशन मुहैया करवाया है।

जहरीली शराब के दोषियों की संपत्ति जब्त हो

पंजाब में जहरीली शराब से मौत के मामले पर डॉ. सिद्धू ने कहा कि दोषी कोई भी हो, उसे गिरफ्तार करके उसकी संपत्ति जब्त करनी चाहिए। उन्होंने मृतकों के परिवार के साथ संवेदना भी जाहिर की।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।