STONEHENGE MYSTRY : रहस्यों से भरे ‘स्टोनहेंज’ के पास मिले हजारों वर्ष पुरानी सभ्यता के अवशेष

|

Published: 28 Jun 2020, 07:39 PM IST

-rahasyon se bhare ‘stonehenge’ ke paas mile hajaaron varsh puraanee sabhyata ke avashesh

-शोधकर्ताओं ने खोजे 20 मानव निर्मित गड्ढे, जो 10 मीटर व्यास की चौड़ाई में हैं
-यूनिस्को की विश्व विरासत सूची में ब्रिटेन का स्टोनहेंज (Britain's Stonehenge is included in UNISCO's World Heritage List)

लंदन. ब्रिटेन में प्रागैतिहासिक काल की संरचना स्टोनहेंज यूनेस्को की विश्व विरासत सूची में शुमार है। पहले ही बेशुमार रहस्य समेटे यह धरोहर अतीत की कई करवटों पर बैठा है। अब पुरातत्वविदों को यहां धरती के नीचे सभ्यता के अवशेष मिले हैं। ब्रैडफोर्ड विश्वविद्यालय के नेतृत्व में ब्रिटिश विवि के शोधकर्ताओं ने डरिंग्टन वॉल्स में 20 विशाल विवर खोज निकाले हैं, जो 10 मीटर व्यास से भी ज्यादा चौड़े और पांच मीटर से अधिक गहरे हैं।

ZEALANDIA : प्रशांत महासागर की गहराई में मिला दुनिया का आठवां महाद्वीप ‘जीलैंडिया’

ये 20 गड्ढे दो किलोमीटर से भी बड़ा घेरा बनाते हैं। डरिंग्टन वॉल्स स्टोनहेंज से कोई दो किलोमीटर की दूरी पर निओलिथिक युग का गांव रहा होगा। शोधकर्ताओं का कहना है कि इन गड्ढों को करीब 4,500 वर्ष पहले खोदा गया था। जो आबादी का एक विशाल भूभाग था।

03 हजार से 1600 ईसा पूर्व की संरचना
पूरे ब्रिटेन में हजारों वर्ष से पत्थरों के घेरे फैले हैं, जो आज भी रहस्य हैं। इन्हीं में विश्व प्रसिद्ध स्टोनहेंज है, जो 3000 से 1600 ईसा पूर्व की संरचना है। माना जाता है कि जनजातियों ने इतने भारी पत्थरों को स्थापित किया था।

चांद पर सैन्य बेस बनाना चाहता था अमरीका