यूपी पुलिस के सिपाही के खिलाफ लव जिहाद, रेप मुकदमा दर्ज, जाने क्या है पूरा मामला

|

Published: 12 Mar 2021, 08:52 PM IST

नाम छुपा कर नजदीकी बढ़ाई शारीरिक शोषण किया शादी का आश्वासन दिया लेकिन किया नहीं। 8 साल में तीन बार गर्भपात भी कराया। अब जाकर दर्ज हुआ मुकदमा। सीओ को दी गई जांच

हरदोई. यूपी पुलिस के सिपाही के खिलाफ लव जिहाद सहित एससी एसटी एक्ट, रेप का मुकदमा दर्ज किया गया है। पीड़ित महिला के अनुसार सिपाही ने अपना नाम व धर्म छिपाकर उससे नजदीकी बढ़ाई, शारीरिक शोषण किया। जब शादी का दबाव बनाया। तो धमकी देते हुए कहता है तेजाब से जलाकर मार डालूंगा। शिकायत के आधार पर महिला थाना में आरोपी सिपाही के खिलाफ संगत धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया है। एएसपी पश्चिम ने घटना की जांच क्षेत्राधिकारी को दी है।

यह भी पढ़े

लखनऊ कानपुर के बीच चलने वालों के लिए बड़ी खबर, गंगा पुल किया जा रहा बंद

हरदोई पुलिस लाइन में तैनात सिपाही

हरदोई के पुलिस लाइन में तैनात सिपाही मो. नदीम निवासी गांधीनगर रूरा कानपुर देहात 2013 में जांच के सिलसिले में उन्नाव आया था। जहां उसकी मुलाकात पीड़ित महिला से हुई। पुलिस को दिए शिकायती पत्र में पीड़ित महिला ने बताया कि उस समय मो. नदीम ने अपना नाम राहुल बताया था और अपने आप को सीओ सफीपुर तौकीर हुसैन के गनर के रूप में परिचय दिया। शादी का झांसा देकर लगातार छह महीना शारीरिक शोषण करता रहा शादी का दबाव बनाने का मोहम्मद नदीम ने अपना वास्तविक रूप दिखाया और सच्चाई बयां कर दी शादी करने से इनकार कर दिया। महिला के अनुसार तत्कालीन एसपी उन्नाव सोनिया सिंह को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई थी। पुलिस अधीक्षक ने मो. नदीम को महिला को साथ रखने का आदेश दिया।

यह भी पढ़ें

तीन अभियुक्तों को अदालत से मिली उम्रकैद की सजा, जाने क्या है पूरा मामला

8 साल करता रहा शारीरिक सोशल

पीड़िता के अनुसार मो. नदीम ने अपने साथ तो रख लिया। लेकिन किसी प्रकार का कोई कानूनी कागजात नहीं बनाया और उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित करता था। विगत 8 साल में वह तीन बार गर्भवती हुई। जिसे उसने गिरा दिया। पीड़िता के अनुसार अभी तक मो. नदीम ने उसे पत्नी का दर्जा नहीं दिया और शारीरिक शोषण करता रहा। शादी का दबाव बनाने पर तेजाब डालकर मार डालने की धमकी दी। एएसपी पश्चिमी कपिल देव सिंह ने मामले की जांच सीओ बघौली उमाशंकर को दी है। महिला थाना में मोहम्मद नदीम के खिलाफ रेप, लव जेहाद सहित अन्य धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया।