यूपीसीडा की इस कार्रवाई से उद्यमियों में अफरा तफरी

|

Published: 23 Nov 2020, 09:32 AM IST

- उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने 4000 उद्यमियों को नोटिस भेजा

 

- दिया 6 महीने का मुहूर्त

कानपुर. उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण ऐसे उद्यमियों को नोटिस भेजा है।जिन्होंने आवंटन के बाद भूखंडों पर उद्योगों को स्थापित नहीं किया है। इनकी संख्या लगभग 4000 बताई जाती है। यूपीसीडा उद्यमियों को चेतावनी दी है कि यदि उन्होंने उद्योग स्थापित नहीं किए तो उनका भूखंड का आवंटन निरस्त कर दिया जाएगा। उन्होंने क्षेत्रीय प्रबंधकों से ऐसे भूखंडों की सूची मांगी है। जिनके आवंटन के बाद उद्यमियों ने उद्योग नहीं लगाए हैं।

विभाग से मिली जानकारी के अनुसार उद्यमी आवंटन के पश्चात विस्तारण शुल्क से राहत पाने के लिए निर्माण कार्य तो शुरू करते हैं। लेकिन वास्तव में यह दिखाने के लिए होता है। निर्माण कार्य शुरू करने का मुख्य उद्देश्य विस्तारण शुल्क से बचना है। बताया जाता है उद्यमी निर्माण कार्य शुरू करके यह दिखा देते हैं कि फैक्ट्री लगाने का काम प्रगति पर है। लेकिन वास्तव में दुबारा अनुमति ना मांगना पड़े और विसतारण शुल्क न देना, पड़े इसके तहत यह कार्य कराया जाता है। ऐसे 4000 उद्यमियों को यूपीसीडा ने नोटिस भेजकर बताया है कि यदि छह माह के अंदर उन्होंने फैक्ट्री नहीं लगाई तो उनका आवंटन निरस्त कर दिया जाएगा। यूपीसीडा की इस कार्रवाई से उद्यमियों में हड़कंप मचा है।