इन बदमाशों ने ऐसा क्या किया कि इनका निकाला जुलूस

|

Published: 11 May 2018, 08:06 AM IST

फायरिंग करने वाले ७ में ५ आरोपी को भेजा जेल

उज्जैन. सोमवार रात मोदी की गली में बाइक टकराने से उपजे विवाद पर सिंहपुरी कार्तिक चौक और दानीगेट क्षेत्र में फायरिंग कर दहशत फैलाने और जानलेवा हमले के ७ आरोपियों को पुलिस ने हिरासत में लेकर क्षेत्र में जुलूस निकाल कर घुमाया। पकड़ाए सभी बदमाश बिलोटीपुरा के आसपास के रहने वाले हैं। दोपहर बाद पुलिस ने सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया, जहां से दो आरोपियों को छोड़कर ५ आरोपियों को जेल भेजा है, जबकि आशीष सारवान व महेश चौहान को दो दिन के पुलिस रिमांड पर सौंपा है। इधर पकड़ाए बदमाशों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने लाला गुट के ललित लोहिया व बबलू निगम के इशारे पर हमला नहीं किया था। यह मामूली विवाद को लेकर हुआ है।
महाकाल टीआइ एमएस परमार ने बताया कि फायरिंंग में घायल प्रणेश वर्मा और विरु उर्फ वीरेन्द्र चौहान की शिकायत पर ८ से १० हमलावरों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया था। वारदात की रात से ही आरोपियों की तलाश की जा रही थी। पुलिस ने बुधवार को आशीष पिता अशोक सारवान, महेश चौहान और उसके साथी सन्नी सारवान, नवीन राव, सागर, लालू राव, जितेन्द्र को गिरफ्तार किया था, गुरुवार को कोर्ट में पेश करने पर आशीष और महेश का रिमांड मांगा है, जबकि ५ आरोपियों को जेल भेजा है। टीआइ परमार ने बताया कि आशीष व महेश से अन्य आरोपियों के बारे में पूछताछ की जा रही है, जिसमें और भी आरोपियों के सामने आने की संभावना है।
-----------
माइक्रोवेव, एलइडी और जेवर ले भागे बदमाश
उज्जैन. सूने मकान का ताला तोड़कर अज्ञात बदमाश सोने के आभूषण सहित माइक्रोवेव ओवन, एलइडी, सूटकेस व अन्य सामान चोरी कर ले गए। गुरुवार दोपहर पड़ोसियों ने फोन पर मकान मालिक को सूचना दी तो उन्होंने उज्जैन पहुंच कर नीलगंगा थाना में रिपोर्ट दर्ज करवाई। नीलगंगा पुलिस के अनुसार सोनकच्छ देवास के रहने वाले अशोक पिता भवानी प्रसाद पुरोहित के अलखधाम नगर में बीती रात अज्ञात बदमाश ताला तोड़कर सोने के आभूषण सहित माइक्रोवेव, एलइडी व सूटकेस चोरी कर ले गए। पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी फुटेज निकलवाए हैं।
बावड़ी में जाली लगवाएं
उज्जैन. बारिश के मद्देनजर नगर निगम द्वारा कुएं, बावड़ी व तालाबों की सफाई कराई जा रही है। इसका निरीक्षण गुरुवार को महापौर ने किया। वे वार्ड १६ स्थित नगर कोट रानी माता मंदिर की प्राचीन बावड़ी पहुंची। सफाई के बाद इसमें जाली लगाने के निर्देश दिए, ताकी कोई इसमें पूजन सामग्री व कचरा ना डाले।