बरसों बाद अब साइफन-बड़गांव सड़क खोलेंगे, तीन नए अंडरपास व कम्युनिटी हॉल भी

|

Updated: 27 Feb 2021, 12:35 PM IST

यूआइटी ने पास किया 444 करोड़ का बजट, मुख्यमंत्री गहलोत की 8 बड़ी घोषणाएं भी बजट में

- बाहुबली हिल्स बड़ी का विकास करेंगे
- चीरवा टनल से देबारी-अम्बेरी हाइवे के बीच 100 फीट रोड खोलेंगे
- साइफन से बडगांव बोटलनेक ठीक करेंगे
- गीतांजलि के पास, महिला थाना व रघुनाथपुरा में अंडरपास

आखिर यूआइटी ने राज्य सरकार के बजट के दो दिन बाद शुक्रवार को अपना बजट पास कर दिया। बजट में करीब 8 बड़े जो प्रोजेक्ट रखे थे उनकी घोषणा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जयपुर विधानसभा में की थी। उन पर यूआइटी ने राशि का प्रावधान करते हुए बजट में शामिल करते हुए अनुमोदन किया। बजट में अन्य घोषणाओं में कलड़वास इंडस्ट्रीयल एरिया जाने के लिए गीतांजलि के पास, महिला थाना व रघुनाथपुरा मुख्य रोड पर अंडरपास बनाने, चीरवा टनल से देबारी हाइवे तक 100 फीट रोड लिंक करने व बडग़ांव के बीच सडक़ विस्तार करने का कार्य प्रमुख है। गोगुंदा हाइवे पर जाने के लिए साइफन से बडग़ांव वाली रोड पर बोटलनेक से आए दिन जाम लगता है जिसके समाधान के लिए इस रोड को बजट में लिया गया है जो इस क्षेत्र व यहां से रणकपुर, सिरोही व आबू जाने वाले पर्यटकों को बड़ी राहत मिलेगी।

उदयपुर. यूआइटी ने वर्ष 2021-22 के लिए 444 करोड़ रुपए का बजट पारित किया। कोरोना का असर बीते वित्तीय वर्ष 2020-21 पर जरूर पड़ा लेकिन यूआइटी की नीलामी ने तिजोरी में प्राप्तियों के आंकड़े को संभाल लिया था। 2020-21 के बजट में 67 प्रतिशत अभी तक यूआइटी को आय हुई है तो 65 प्रतिशत राशि खर्च की गई है। नवीन वर्ष 2021-22 में आय 44415.00 लाख एवं 44361.00 लाख व्यय का प्रस्ताव रखा गया है।
यूआइटी सभागार में चेयरमैन जिला कलक्टर चेतन देवड़ा की अध्यक्षता में बजट बैठक शुरू हुई। सचिव अरुण कुमार हासिजा ने एक-एक प्रस्ताव रखे जिस पर चर्चा के साथ ही उसका अनुमोदन किया गया। बैठक में ट्रस्टी विद्युत निगम के एसई गिरीश जोशी, पीएचइडी के एसई विपिन जैन, एसटीपी अरविंद कानावत शामिल थे। इसके अलावा ओएसडी पुष्पेन्द्र सिंह शेखावत, भूमि अवाप्ति अधिकारी वारसिंह, एसइ संजीव शर्मा, वरिष्ठ लेखाधिकारी रमेश बावरी, बीएल. कोठारी आदि उपस्थित थे।


मुख्यमंत्री बजट घोषणा वाले काम में यह होगा

1. नेहरू गार्डन का विकास
फतहसागर झील स्थित नेहरू गार्डन में नवीन आर्कषण एवं सुविधा को बढ़ावा देंगे। बाहरी रिटेनिंग वॉल की मरम्मत, गार्डन द्वीप के अन्दर फूटपाथ, पौधरोपण व अन्य र्होटीकल्चर कार्य, हेरिटेज संरक्षण, आकृर्षक रोशनी, म्यूजिकल व लेजर फाउण्टेन कार्य। राशि 900 लाख रुपए

2. रानी रोड का विकास
फतहसागर झील किनारे रानी रोड़ को मॉडल रोड़ के रूप में विकसित किया जाएगा। करीब 4.50 कि.मी. लम्बाई में सडक़ सुदृढीकरण पैदल भ्रमण के लिए अलग से फूटपाथ, यूटीलिटी डक्ट, फूटपाथ एवं मैन रोड़ को पृथक करने के लिए रेलिंग, पहाड़ी पर आवश्यकतानुसार रिटेनिंगवॉल एवं ग्रीन वॉल। कुल लागत 1200 लाख, अभी प्रावधान 800 लाख

3. महिला थाना-रघुनाथपुरा पर बनेगा अंडरपास
भुवाणा से प्रतापनगर की 4-लेन सडक़ को मॉडल रोड़ के रूप में विकसित करेंगे। 5.50 कि.मी. लम्बाई में मौजूदा 4-लेन सडक़ के सृदढीकरण, मिडीयन के प्लान्टर्स का नवीनीकरण, दोनो तरफ फूटपाथ निर्माण, ड्रेनेज, मार्गाधिकार के दोनो तरफ ग्रीन भू-पट्टी विकसित करने का कार्य प्रस्तावित है। साथ ही आर.टी.ओ. ऑफिस-रघुनाथपुरा जंक्शन पर एवं शोभागपुरा चौराहा से महिला थाना तक की 100 फीट सडक़ के जंक्शन पर अण्डरपास निर्माण भी प्रस्तावित है। 1800.00 लाख का बजट रखा।

4. दक्षिण विस्तार में सडक़ों का जाल

दक्षिण विस्तार योजना में रोड़ नेटवर्क विकसित करने के लिए 1200 लाख रुपये का सडक़ों के लिए प्रावधान किया गया है। 200 फीट सडक़ का निर्माण कार्य जिससे ए, बी, सी व डी ब्लॉक में व मुख्यमंत्री जन आवास योजना में निर्माणाधीन कुछ भूखण्ड़ तक सुगम यातायात की दृष्टि से लाभ मिल सकेगा। इसी प्रकार वहां 100, 80 व 60 फीट सडक़ एवं नव विकसित ब्लॉक सी व डी की आन्तरिक सडक़ों के निर्माण भी करेंगे।

5. वाड़ा ढीकली क्षेत्र में ड्रेनेज प्लान

देबारी से अम्बेरी एन.एच.-27 के दोनो तरफ वाड़ा-ढीकली क्षेत्र में विकसित हो रही आबादी के दृष्टिगत पहाड़ी केचमेंन्ट से ढीकली तालाब तक वर्षा जल के निर्बाध रूप से सुनियोजित प्रवाह के लिए तथा भविष्य में वाड़ा ढीकली क्षेत्र में विकसित होने वाली कॉलोनियों में वर्षाजल निकासी को लेकर वाटर ड्रेनेज विकसित करने के लिए 500 लाख का प्रावधान।

6. तीन नए सामुदायिक केन्द्र
यूआइटी के क्षेत्राधिकार में विकसित हुई कॉलोनियां जहां की पर्याप्त आबादी को देखते हुए उनकी सुविधा के दृष्टिगत तीन सामुदायिक भवनों का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए 350 लाख का प्रावधान किया गया है।

7. पहाडी, वॉटर बॉडी संरक्षण
विभिन्न पहाडिय़ों एवं तालाब के संरक्षण के लिए 535 लाख का प्रावधान किया गया। रामगिरी पहाड़ी बडग़ांव, बाहुबली हिल्स बड़ी, दक्षिण विस्तार योजना में जोगी तालाब एवं अन्य न्यास भूमि की अन्य पहाड़ी का संरक्षण एवं विकास किया जाएगा।

8. पेयजल योजनाएं
विभिन्न आवासीय योजना में पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए प्रावधावित बजट के अतिरिक्त 1000 लाख का प्रावधान किया गया।


सडक़ों का नेटवर्क के लिए ये प्रोजेक्ट
- उदयपुर शहर में गोगुन्दा, रणकपुर, आबू की तरफ से प्रवेश पर यातायात सुगमता के लिए साइफन चौराहा से बडगांव तक सडक़ विस्तारिकरण एवं सडक़ विकास के लिए 200 लाख का प्रावधान
- बजट में सडक़ों के लिए 3775 लाख रुपए का प्रावधान किया गया है।
- मनवाखेड़ा 60 फीट सडक़ से तितरड़ी, आम्बाफला, गुखर मगरी, गुप्तेश्वर महादेव व कलड़वास औद्योगिक क्षेत्र जाने के लिए एन.एच.-8 बाईपास पर अण्डरपास निर्माण
- मेगा आवास योजना से एन.एच.76 तक मास्टर प्लान 100 फीट सडक़ का निर्माण
- मुख्यमंत्री जन आवास योजना, उमरड़ा तक मास्टर प्लान की 100 फीट सडक़ का निर्माण
- हिरणमगरी सेक्टर 3,4 व 5 एवं न्यास रूपान्तरित योजना क्षेत्र की 120 फीट सडक़ का निर्माण
- वेशाली अपार्टमेंन्ट मनवाखेड़ा की 60 फीट सडक़ का निर्माण
- भुवाणा, खेलगांव के सामने स्थित 200 फीट सडक़ का सुदृढीकरण।
- अम्बेरी में मास्टर प्लान की 100 फीट सडक़ का निर्माण, ये सडक़ चीरवा टनल से देबारी-अम्बेरी हाइवे के बीच कनेक्ट होगी।
- पुलां चौराहा से भुवाणा पीर बावजी तक सडक़ सुदृढ़ीकरण
- चित्रकूट नगर की 80 फीट सेक्टर रोड़ का सुदृढ़ीकरण
- कॉन्वे हाईट्स से 200 फीट बाईपास तक मास्टर प्लान की 100 फीट सडक़ का सुदृढीकरण।

यहा बनेंगे नाले, खर्च 1358 लाख

- अलग-अलग कॉलोनियों के मध्य मुख्य नालों के निर्माण के लिए 1358 लाख का प्रावधान।
- भूवाणा देवेन्द्र धाम से पूलां चौराहा तक, नवरत्न कॉम्पलेक्स, सिलवर स्प्र्रीग अपार्टमेंट से आयड़ तक शोभागपुरा सर्कल से अशोका पैलेस तक नाला निर्माण
- रूपनगर बाईपास 100 फीट रोड़ के सहारे, ब्रिजविहार कॉलोनी से आयड़ तक, वैशाली अपार्टमेंट मनवाखेडा क्षेत्र, एकलिंगपुरा चौराहे से आयड़ नदी तक शेष लम्बाई में, ए-वन कॉम्पलेक्स मनवाखेडा क्षेत्र, तुलसीनगर से मीरानगर ढीकली क्षेत्र, मेगा आवास 100 फीट सडक़ से रकमपुरा तक तथा सवीना, सवीना खेड़ा क्षेत्र में शेष रहे मुख्य बरसाती नालों का निर्माण कार्य


ये घोषणाएं भी
- न्यास योजना क्षेत्र हिरण मगरी सेक्टर 9, 14, मादड़ी पुरोहितान, चित्रकूटनगर, मीरा नगर आदि में सडक़, नाली निर्माण एवं सुदृढीकरण के लिए 1205 लाख का प्रावधान
- न्यास क्षेत्राधिकार में स्थित सडक़ो पर एल.ई.डी. से प्रकाश व्यवस्था के लिए 200 लाख का बजट, प्रमुख चौराहों एवं जंक्शन पर अण्डरग्राउण्ड केबलिंग के लिए 100 लाख
- अम्बेरी, गुखर मगरी, धोल की पाटी योजना में विद्युतीकरण के लिए 200 लाख, मुख्यमंत्री जन आवास योजना उमरड़ा में विद्युत स्त्रोत उपलब्ध कराने के लिए 100 लाख का बजट प्रावधान। सौर ऊर्जा व अन्य के लिए 300 लाख रुपए।

एक नजर में ये काम भी
- यूआईटी चौराहा सहेली मार्ग से फतहपुरा चौकी तक सुदृढीकरण एवं समग्र विकास पर 250 लाख
- रानी रोड़ पर स्थित राजीव गांधी स्मृति उद्यान में नवाचार के लिए 100 लाख का प्रावधान
- रूपान्तरित योजना क्षेत्र व पार्को में पौधरोपण व अन्य सूविधाओं के लिए 656 लाख
- यूआइटी के मौजूदा भवन के विस्तारीकरण एवं न्यास की विभिन्न शाखाओं के रिकार्ड एवं अभिलेखों को संरक्षित रखने के लिए 300 लाख

अम्बेरी, गुखर मगरी, धोल की पाटी योजनाएं आएगी
यूआइटी की अनुमोदित नवीन योजनाएं अम्बेरी, गुखर मगरी, धोल की पाटी जल्द आएगी। इसके प्रस्ताव राज्य सरकार को भेज रखे है। बजट में इन योजनाओं में सडक़ें, नालियां जैसी आधारभूत सुविधाऐं विकसित करने के लिए 700 लाख का प्रावधान किया गया है।

वर्ष 2020-21
प्राप्तियां अनुमान 36668.00 लाख
मार्च अंत तक प्राप्तियां होगी 24457.00 लाख


यहां से तिजोरी में आएगा धन

भूमि, भवन व भूखंड बेचने से 14300
भूमि व नियमन शुल्क व अन्य से 11050
प्लान अनुमोदन, नामांतरण, नौकायन अन्य 11165
आवासीय योजनाओं से 7900
कुल प्राप्तियां 44415
(राशि लाखों में)

तिजोरी से ऐसे खर्च होगा बजट

विकास व अन्य

विकास कार्य 32454
भूमि अवाप्ति 200
नगरीय शुल्क अदायगी 1600
अमानत राशि वापसी 300
शहरी पेयजल योजनाएं 1500
ढ़ीकली वाडा स्ट्रोम वाटर मेनेजमेन्ट 500
अन्य राजकीय मदों में राज्यांश 900

अंशदान के लिए

निगम को 350
राजकीय भूमि का100
स्मार्ट सिंटी 1500
आयड़ नदी 2000
सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विस 250
झील प्राधिकरण को 150

यूआइटी के खर्चे

वेतन एवं भत्ते 1276
न्यास कर्मचारियों को अग्रिम 15
कार्यालय व्यय 1063
मशीनरी टूल व प्लांट्स 203

योग 44361