दक्षिण विस्तार में प्यास बुझाने की 16.60 करोड़ की फाइल जयपुर में अटकी

|

Updated: 26 Oct 2020, 12:46 PM IST

दक्षिण विस्तार योजना में पानी पहुंचाने के लिए यूआईटी ने जारी किया बजट, जलदाय विभाग जयपुर के पास गई फाइल

मुकेश हिंगड़ / उदयपुर. शहर की दक्षिण विस्तार योजना में पीने का पानी पहुंचाने के लिए बनाई गई योजना की फाइल जयपुर जलदाय विभाग के मुख्यालय पर अटकी पड़ी है।
इस क्षेत्र में प्यास बुझाने के लिए यूआईटी उदयपुर ने करीब 16.60 करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट बनाया है। इस प्लान को यूआईटी ने मंजूरी दे दी और राज्य सरकार से भी मंजूरी मिल गई। यूआईटी ने इस कार्य को आगे बढ़ाने के लिए फाइल जलदाय विभाग को भेज दी। करीब तीन महीने में जलदाय विभाग के आंतरिक रूप से जो प्रक्रिया पूरी करनी है वह अभी तक पूरी नहीं हुई। विभाग के स्थानीय कार्यालय ने जयपुर मुख्यालय को फाइल भेजी लेकिन वहां से कुछ आपत्तियां आई जिस पर यहां से वापस जवाब दो दिन पहले ही भेजा गया।

जयसमंद का पानी पहुंचेगा

जयसमंद से आने वाली लाइन के जरिए पानी दक्षिण विस्तार में पहुंचाया जाएगा। अम्बाघाटी से दक्षिण विस्तार में ओम बन्ना मंदिर तक पाइप लाइन के जरिए पहुंचेगी।

दो टंकिया व एक फिल्टर प्लांट

दक्षिण विस्तार में दो पानी की दो टंकियां व एक फिल्टर प्लांट बनाया जाएगा। वहां से योजना के अलग-अलग इलाकों तक पाइप लाइन डाली जाएगी।

हाउसिंग के कई मकान बने

वहां पर हाउसिंग के कई मकान बनाए जा रहे है। स्वतंत्र रूप से रहने वाले लोगों के अलावा हाउसिंग की योजनाओं में सर्वाधिक परिवार होंगे जहां तक पानी पहुंचाया जाएगा।

इनका कहना है...
यूआईटी ने राशि स्वीकृत करते हुए अपनी सारी प्रक्रिया पूरी कर दी है। अब वहां पीएचईडी को काम करना है।
- अरुण कुमार हासिजा, सचिव यूआईटी

हमने हमारे जयपुर मुख्यालय को एप्वुपल के लिए फाइल भेजी थी, वहां से कुछ आपत्तियां थी जिनको भी निस्तारित कर वापस फाइल दो दिन पहले ही भेजी है। वहां से स्वीकृति होते ही इसकी प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।
- संजय कुमार श्रीवास्तव, अधीसाशी अभियंता जलदाय विभाग