उदयपुर केे गुलाबबाग से गायब हुए गुलाब, अब नहींं महक रहा गुलशन

|

Published: 26 Oct 2020, 10:12 PM IST

- शहर के गुलाबबाग में गुलाबों की जगह उग रही घास, बारिश में भरा पानी, कोरोना के कारण मजदूर नहीं मिल पाने से नहीं हो पाई सार-संभाल

उदयपुर. जिस गुलाबबाग में महकते हुए विभिन्न प्रजाति के गुलाब यहां सुबह-शाम सैर करने आने वाले और घूमने आने वाले पर्यटकों का ध्यान बरबस ही खींच लेते हैं, वही गुलाब बाग आज गुलाबों की खुशबू से महरूम है। दरअसल, लॉकडाउन और कोरोना काल का असर गुलाबों पर भी हुआ और यहां सार-संभाल के अभाव में गुलाब ही मुरझा गए।

लॉकडाउन से फूलों की देखरेख, उग आई घास
इन दिनों गुलाबबाग के गुलाबों वाले बाग की हालत यह है कि यह पूरी तरह उजाड़ पड़ा है। सारे गुलाब सूखे और मुरझाए पड़े हैं। लंबी-लंबी घास उग आई है और बारिश का पानी यहां भरा हुआ है, जबकि यहां अलग-अलग किस्मों के गुलाब महका करते थे, लेकिन, आज इस गुलशन से गुलाब ही गायब हैं। लॉक डाउन के दौरान गुलाबबाग बंद होने से व मजदूर नहीं आने से गुलाबों की सार संभार देखरेखा नहीं हुई। फिर बारिश के दौरान बगीचे में पानी भर गया व बड़ी बड़ी घास उग आई। अधिकतर गुलाब खराब हो गए और रहे-सहे गुलाब भी मुरझा गए हैं।

70 से भी अधिक किस्मों के गुलाब

गुलाबबाग इसलिए गुलाबों का बाग कहलाता है क्योंकि यहां 70 से भी अधिक किस्मों के गुलाब हैं। इनमें सोफिया, ग्लोरी, समर स्नो, एफिल टावर, मोनिक, परफेक्टा, पिकाडेली, ब्लू मून, रोज मरीन, टाइटेनी, एलीगेंस आदि इन गुलाबों को देखकर ही मन खुश हो जाता है। पर्यटक भी इसे देखने के लिए आकर्षित होते हैं।