देवली में एटीएम तोडकऱ लूट का प्रयास, बचे साढ़े 4 लाख रुपए

|

Published: 20 Aug 2020, 08:59 AM IST

देवली में एटीएम तोडकऱ लूट का प्रयास, बचे साढ़े 4 लाख रुपए

 

देवली. शहर स्थित एक निजी बैंक की शाखा के बाहर लगे एटीएम मशीन तोडकऱ राशि लूटने का मंगलवार रात प्रयास किया गया। वारदात का पता बुधवार सुबह बैंक के सुरक्षाकर्मी के शाखा पहुंचने पर लगा। जहां टूटी हुई एटीएम मशीन देखकर सुरक्षाकर्मी के होश उड़ गए। सूचना पर देवली थाना प्रभारी ने मौके पर जाकर वारदात की जानकारी जुटाई।


उक्त वारदात रात करीब 11 बजे के आसपास की है। जहां बाइक सवार दो जने मुंह पर दुपट्टा डालकर एक्सिस बैंक के एटीएम मशीन चैम्बर में घुसे। यहां उन्होंने सबसे पहले एटीएम पर लगा सीसीटीवी कैमरा तोड़ा। इसके बाद लुटेरों ने लोहे के सरिए से एटीएम तोडकऱ का प्रयास शुरू किया। इस दरम्यान लुटेरों ने एटीएम का बाहरी हिस्सा भी तोड़ डाला, लेकिन आरोपी कैश ले जाने में असफल रहे।

इधर, सुबह बैंक सुरक्षाकर्मी के शाखा पर पहुंचने पर एटीएम मशीन क्षतिग्रस्त हालत में मिली। सूचना पर देवली थाना प्रभारी सतेन्द्र सिंह नेगी व टोंक एफएसएल टीम के सदस्य मौके पर पहुंचे। जहां उन्होंने एफएसएल टीम के मोहम्मद अनीस ने बारीकी से जांच कर फिंगर प्रिंट लिए।

उधर, एटीएम में लूट के प्रयास से शाखा कर्मचारियों में खलबली मच गई। बुधवार दोपहर बैंक शाखा प्रबंधक ने देवली थाने पहुंचकर वारदात की रिपोर्ट दी है। थाना प्रभारी ने बताया कि एटीएम मशीन के बाहर रात्रिकालीन सुरक्षाकर्मी नहीं था। इसी का फायदा उठाकर लुटेरों ने वारदात का प्रयास किया।

प्रसूता की मौत पर हंगामा
टोंक. शहर के एक निजी अस्पताल में प्रसूता की मौत पर होने पर परिजनों ने हंगामा कर दिया। उन्होंने अस्पताल में तोडफ़ ोड़ की कोशिश भी की। मौके पर पहुंची कोतवाली थाना पुलिस ने मामला शांत किया। पुलिस ने बताया कि मृतका प्रसूता ममता पत्नी उरमल सैनी निवासी बिख्यापुरा है।

उसके भाई कालूराम सैनी का कहना है कि गुरुवार शाम ममता को सआदत अस्पताल टोंक में भर्ती कराया गया था, लेकिन किसी ने सुध नहीं ली तो उसको रात 8 बजे निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया। उस वक्त ममता की बीपी 180थी। जिस दौरान डॉक्टर ने बताया था कि नॉर्मल डिलेवरी में दोनों की जान को खतरा है ऑपरेशन से ही डिलेवरी होगी। सैनी का कहना है कि रात 11 बजे ममता ने एक लडक़े को जन्म दिया उस वक्त दोनो ही जच्चा व बच्चा ठीक थे, लेकिन सुबह पांच बजे रक्त स्त्राव हो रहा था जिसने कुछ ही समय बाद दम तोड़ दिया।