अभिनेता से नेता बने Vijayakanth को हुआ कोरोनावायरस, अस्पताल में किया गया भर्ती.. कुछ सालों से स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से जूझ रहे हैं

|

Published: 24 Sep 2020, 01:26 PM IST

देसिया मुरपोक्कु द्रविड़ कड़गम (DMDK) के संस्थापक विजयकांत (Vijayakanth) के कोरोना संक्रमित (Corona Positive) पाए जाने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है। अभिनेता से नेता बने विजयकांत को डॉक्टरों की पूरी निगरानी में रखा गया है।

नई दिल्ली | अभिनेता से नेता बने तमिल एक्टर विजयकांत (Tamil actor Vijayakanth) कोरोनावायरस पॉजिटिव (Coronavirus Positive) पाए गए हैं। जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो विजयकांत कुछ सालों से स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों का सामना कर रहे हैं। जिसकी वजह से सार्वजनिक स्थानों पर वो काफी कम नजर आते हैं। हाल ही में विजयकांत की पार्टी देसिया मुरपोक्कु द्रविड़ कड़गम (DMDK) का स्थापना दिवस था। इस कार्यक्रम के बाद ही वो कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

बुधवार को उनकी तबीयत खराब नजर आने पर उन्होंने कोविड-19 की जांच कराई जिसमें पॉजिटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया। बता दें कि विजयकांत ने अपनी पार्टी DMDK की स्थापना साल 2005 में की थी। इसके अलावा उन्होंने अपने फिल्मी करियर में 150 से ज्यादा फिल्में दी हैं। ऐसा करने वाले वो इकलौते तमिल एक्टर हैं।

1981 में आई फिल्म Sattam Oru Iruttarai ने विजयकांत को रातों रात तमिल फिल्म इंडस्ट्री का स्टार बना दिया था। इस फिल्म में वो अपने माता-पिता की मौत का बदला लेते हुए दिखाई दिए थे। इस फिल्म की सक्सेस के बाद इसे हिंदी, तेलुगु, मलयालम जैसी भाषाओं में भी रिलीज किया गया था।। वहीं साल 1986 में विजयकांत को Amman Kovil Kizhakale नाम की फिल्म के लिए बेस्ट एक्टर का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था। 1988 में विजयकांत ने तमिल भाषा में सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म दी थी। जिसका नाम Senthoora Poove था। इस फिल्म के लिए उन्हें बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड भी मिला था। विजयकांत ने अपने करियर सफर में हर तरह के रोल किए और दर्शकों ने उन्हें खूब पसंद किया। कॉप अवतार में 1990 में रिलीज हुई फिल्म Chatriyan ऑडियंस को खूब पसंद आई थी। साल 2000 में आई फिल्म Vaanathaippola ने नेशनल अवॉर्ड भी जीता था। विजयकांत ने इस फिल्म में डबल रोल प्ले किया था।