गंभीर बीमारी की दवाएं दूसरे शहरों से लाने के लिए प्रशासन ने की व्यवस्थाएं

|

Published: 30 Mar 2020, 07:00 AM IST

लॉकडाउन की स्थिति में भी गंभीर बीमारी वाले व्यक्तियों के उपचार में कोई कमी नहीं होगी।


टीकमगढ़.लॉकडाउन की स्थिति में भी गंभीर बीमारी वाले व्यक्तियों के उपचार में कोई कमी नहीं होगी। उसके लिए प्रशासन ने भोपाल दवा बाजार से दवाए खरीदने की अनुमति प्रदेश शासन से ले ली है। दवाओं को लाने के लिए जिला प्रशासन ने एक सरकारी कर्मचारी को नियुक्त किया है। जिसका खर्चा बीमार व्यक्ति के परिजनों को उठाना होगा। इसके साथ ही समाजसेवी भी झांसी और ग्वालियर से लोगों की महत्वपूर्ण दवाओं को पर्चे पर तीन दिनों से ला रहे है।
कोराना वायरस संक्रमण के चलते देश और प्रदेश को लॉकडाउन कर दिया है। जहां वाहनों के साथ लोगों के आवागमन की गति थम गई है। इस स्थिति में गंभीर बीमारी वाले लोगों का चेकअप कराने और महानगरों से दवाओं को लाने की परेशानी भी बढ़ गई है। उनके उपचार की दवाओं का मिलना जिले में मुश्किल हो गया है। जिसके कारण मरीजों की स्थिति पर बुरा प्रभाव पडऩे लगा है। इस स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने दूसरे जिले और महानगरों से दवा खरीदने की अनुमति प्रदेश सरकार से ले ली है। दवा लाने के लिए एक सरकारी कर्मचारी को भी नियुक्त कर दिया गया है। जो दूसरे दिन दवाओं को खरीदकर मरीजों को देगा। यह प्रक्रिया मरीजों के खर्च पर ही की जाएगी।
दवाएं लाने के लिए यह करनी होगी प्रक्रिया
कलेक्टर हर्षिक ा सिंह के निर्देश पर गंभीर बीमारी वाले लोगों को दवाएं महानगरों से खरीदकर दी जाएगी। उसके लिए डॉक्टर का पर्चा, जिला अस्पताल के सिविल सर्जन द्वारा सत्यापित करके संयुक्त कार्यालय में स्थिापित कंट्रोल रूम में रुपए के साथ जमा किया जाएगा। सरकारी कर्मचारी सरकारी वाहन से सभी पर्चे को एकत्रित करके भोपाल दवा बाजार से खरीदकर दूसरे दिन मरीजों को देगा। जिससे जिले के गंभीर बीमारी वाले मरीजों और उनके परिजनों को परेशान नहीं होना पड़ेगा।।


समाजसेवी जनता की मंगवा रहे झांसी और ग्वालियर से दवाएं
राजेंद्र साहू ने बताया कि इस महामारी से लोगों का निकालना मुश्किल हो गया है। जिले में दवाएं नहीं मिलने से लोगों की चिंता बढ़ गई है। जिसके चलते शहर और ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों से तीन दिनों से दवाओं के पर्चे लेकर झांसी, ग्वालियर से दवाएं खरीदकर सही समय दे रहे है। शुक्रवार को २६ ग्वालियर के पर्चे, शनिवार को २५ पर्चे और रविवार को १९ पर्चे आ गए है। सभी दवाएं खरीदकर दी जा रही है।
इनका कहना
कलेक्टर ने भोपाल के दवा बाजार से दवा खरीदने की अनुमति राज्य शासन से ली है। जिले के गंभीर मरीज कैंसर से पीडि़त, किडनी की बीमारी के साथ अन्य बीमारियों से पीडि़त मरीजों की दवाओं को उन्हें के खर्च पर भोपाल से मंगवाई जाएगी। लेकिन पर्चा सिविल सर्जन से सत्यापित होना चाहिए। वह पर्चा और दवाओं की राशि सयुक्त कार्यालय में बने कंट्रोल रूम में जमा शाम ५ बजे तक करनी होगी। उसके बाद सरकार कर्मचारी द्वारा दवाओं को लगाया जाएगा।
सौरभ मिश्रा डिप्टी कलेक्टर टीकमगढ़