निवाड़ी में परिवार परामर्श केंद्र का हुआ शुभारंभ , 8 में से 3 परिवार का कराया राजीनाम

|

Published: 31 Jul 2021, 08:39 PM IST

निवाड़ी जिले में परिवार परामर्श केंद्र का शुभारंभ किया गया। जहां शुक्रवार को पति-पत्नि, पिता-पुत्र और परिवार के अन्य सदस्यों के बीच आपसी सुलह कराया गया।


टीकमगढ़.निवाड़ी जिले में परिवार परामर्श केंद्र का शुभारंभ किया गया। जहां शुक्रवार को पति-पत्नि, पिता-पुत्र और परिवार के अन्य सदस्यों के बीच आपसी सुलह कराया गया। जिसमें ८ मामलों में से ३ परिवारों का राजीनामा कराया गया है। वहीं काउंसलरों का एक दिवसीय प्रशिक्षण लिया गया।
पुलिस कार्यालय में एसपी आलोक कुमार सिंह ने पुलिस परिवार परामर्श केंद्र की शुरुआत कर दी है। सप्ताह में पारिवारिक विवाद से संबंधित आने वाली शिकायतों का संग्रह किया जाएगा। रविवार के दिन दोनों पक्षों को बुलाकर सुलह-समझौते के आधार पर मामले को हल कराने की कोशिश की जाएगी। जिले के पुलिस कप्तान और शिवपुरी जिले से आए परिवार परामर्श केंद्र के संयोजक आलोक कुमार इंदोदिया की उपस्थिति में परिवार परामर्श केंद्र की प्रशिक्षण किया गया। पुलिस थानों से 22 सदस्य काउंसलर को शामिल किया गया। जिसमें 17 सदस्य काउंसलर उपस्थित रहे। परिवार परामर्श केंद्र संयोजक ओम प्रकाश खरे एडवोकेट को नियुक्त किया गया। एसपी ने बताया कि परिवार को टूटने से बचाने दोनों पक्षों को अधिकतम तीन बार बुलाया जाएगा। यहां काउंसिलिंग के बाद भी बात नहीं बनती है तो पीडि़त पक्ष की अपेक्षा और मामले की गंभीरता अनुसार कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
प्रत्येक रविवार को होगा आयोजन
एसपी ने बताया कि आपसी विवाद को प्रत्येक रविवार को सुलझाया जाएगा। परिवार परामर्श केंद्र का आयोजन महिला पुलिस थाना परिसर में महिला उजाडेल कार्यालय में आयोजित किया जाएगा। इस दिन समय-समय पर न्यायिक और प्रशासनिक अधिकारियों को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित भी किया जाएगा। जिसमें इंदौरिया राजेंद्र राठौर, राजेश गुप्ता, हरवीर सिंह चौहान, पुष्पा खरे, प्रीति जैन, श्वेता गंगवा, मथुरा प्रसाद गुप्ता, विजय खन्ना, महिला थाना जिला शिवपुरी से विशेष रूप से प्रधान आरक्षक विपिन कुमार शर्मा के सहयोग से इस कार्यशाला का शुभारंभ किया गया।


8 मामलों में 3 परिवारों का हुआ सुलहनामा
महिला पुलिस थाना प्रभारी निरीक्षक अभय प्रताप सिंह ने बताया कि एसपी कार्यालय में परिवार परामर्श समिति की बैठक दौरान जिले के 8 प्रकरणों को समिति के समक्ष प्रस्तुत किया गया। जिसमें से एक पक्षकार उपस्थित रहा। दूसरा पक्ष सूचना के भी अनुपस्थित रहा। जिसमें 3 प्रकरणों का राजीनामा कराया गया। पति पत्नि में सुलह कराने के बाद परिवार परामर्श केंद्र के समक्ष एक दूसरे को माल्यार्पण करवाया गया। तीनों परिवार खुशी से अपने घर गए। निरीक्षक अभय प्रताप सिंह ने बताया कि एक प्रकरण में एक पक्ष अनुपस्थित रहा। वहीं एक प्रकरण में 1 माह राजीनामा के लिए मांगा गया। दोनों पक्ष सहमत रहे। 2 प्रकरणों में दो दिवस का समय राजीनामा के लिए मांगा गया। दोनों पक्ष सहमत रहे एक प्रकरण में महिला थाना में कार्रवाई के लिए भेजा गया।