पटवारियों और तहसील कार्यालयों जिम्मेदारों की लापरवाही से परेशान किसान

|

Published: 28 Mar 2020, 05:00 AM IST

केंद्र सरकार द्वारा भले ही किसानों के लिए दर्जनों कल्याणकारी योजनाएं संचालित हो रही है।

टीकमगढ़/बम्हौरीकलां.केंद्र सरकार द्वारा भले ही किसानों के लिए दर्जनों कल्याणकारी योजनाएं संचालित हो रही है। लेकिन पटवारी और तहसील के जिम्मेदारों की लापरवाही से ग्रामीण बैंक का एफसी कोड गलत होने के कारण यह योजना हजारों किसान तक नहीं पहुंच पाई है। वहीं केंद्र सरकारी ने अप्रैल के प्रथम सप्ताह तक किसानों के खातों में सम्मान निधी पहुंचे की घोषिणा की है।
किसान आनंदी कुशवाहा, मातादीन, रामसेवक, दयाल, रामकिशन, हरनारायण, कल्याण सिंह, जमना, बैजनाथ, कालीचरन, राम चरण, बंशीधर, कन्हैयालाल ने बताया कि बम्हौरीकला मध्यांचल ग्रामीण बैंक में हजारों किसानों बैंक खाता संचालित हो रहे है। लेकिन उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। दूसरी बैंकों से आने वाली राशि भी नहीं पहुंच पा रही है। किसानों का कहना है कि तहसील कार्यालय से एफसी कोड गलत किया गया है। जिसके कारण किसानों को मिलने वाली सूखा राहत, किसान सम्मान निधी के साथ अन्य योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। लेकिन अधिकारियों द्वारा इसओर कोई ध्यान नहीं दिया गया। किसानों को फि र उम्मीद जागी की देश में कोरोना वायरस जैसी गंभीर बीमारी के राष्ट्रीय आपदा घोषित होने के बाद पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया गया है।

ऐसी स्थिति में गरीब परिवारों के सामने दो वक्त के रोजी-रोटी की समस्या है। किसानों को आगामी अप्रैल के प्रथम सप्ताह में ही उनके खातों में किसान सम्मान निधि की राशि पहुंचाए जाने जाने के निर्देश जारी किए गए हैं। लेकिन यहां के हालात यह है कि सैकड़ों किसान उनके खाते मध्यांचल ग्रामीण बैंक बम्हौरीकलां होने के कारण उनको इस योजना का लाभ नहीं मिल रहा है।
इनका कहना
मामले को लेकर तहसील में जांच की जाएगी। बैँक के गलत कोड को सही करवाने के लिए संबंधित को पत्र भेजा जाएगा। इसके साथ ही लापरवाह कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही किसानों को मिलने वाली योजनाओं को दिया जाएगा।
अनिल गुप्ता तहसीलदार पलेरा।
बैंक में तकनीकी परेशानी है। इस कारण किसानों के खातों में सम्मान निधी नहीं आ पा रही है। तहसील में मामले की जानकारी दे चुके है। जल्द की कोड का सुधार किया जाएगा।
लखन अहिरवार पटवारी बम्हौरीकलां।
किसानों के खातों में किसान सम्मान निधि पहुंचाई जाएगी। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही अधिकारियों और कर्मचारियों की नहीं चलेगी। किसानों के खातों में किसान सम्मान निधी पहुंचाने के लिए कलेक्टर को पत्र लिखा जाएगा।
हरीशंकर खटीक विधायक जतारा।