मोबाइल की लाइट में करना पड़ रहा अंतिम संस्कार

|

Published: 16 Sep 2021, 11:46 AM IST

बल्देवगढ़ में परिषद की लापरवाही से मुक्तिधाम में नहीं हो पा रही लाइट की व्यवस्था

टीकमगढ़. बल्देवगढ़ में लोगों को मूलभूत सुविधाएं तो दूर मरने के बाद लाइट भी नसीब नहीं हो रही है। मुक्तिधाम में लाइट की व्यवस्था न होने से लोगों को रात के समय अंधेरे में ही अंतिम संस्कार करना पड़ रहा है। बीते रात लोगों ने एक युवक का मोबाइल की लाइट में अंतिम संस्कार किया गया।


नगर परिषद बल्देवगढ़ की लापरवाहियों के चलते तमाम संसाधन होने के बाद भी लोगों को सुविधाएं नहीं मिल रही है। आलम यह है कि मुक्तिधाम में बिजली का कनेक्शन होने के बाद भी शेड के आसपास लाइट नहीं लगाई गई है। ऐसे में यदि किसी का रात को अंतिम संस्कार करना पड़े तो लोगों को अंधेरे में ही सारे क्रिया-कर्म करने पड़ते है। ऐसा ही मामला बीती रात देखने को मिला। नगर के बिहारी विश्वकर्मा की पत्नी के बीमार होने पर उन्हें भोपाल में भर्ती किया गया था। वहां उपचार के दौरान उनकी मौत होने पर परिजन शल लेकर अपने घर पहुंचे। यहां पर रात को ही वह उनका अंतिम संस्कार करने मुक्तिधाम पहुंचे तो यहां पर अंधेरा छाया हुआ था।

 

 

ऐसे में साथ पहुंचे लोगों ने अपने मोबाइल की लाइट जलाई और तमाम क्रियाकर्म किया। लोगों की माने तो यह समस्या पहले भी सामने आ चुकी है, लेकिन नगर परिषद का इस पर कोई ध्यान नहीं है। नगर के छोटेलाल विश्वकर्मा, धनीराम विश्वकर्मा, सुधीर भार्गव, जगदीश पांडेय, छोटू सहित अन्य लोगों का कहना था कि यहां पर लाइट का कनेक्शन है और मीटर भी लगा है, लेकिन अंदर लाइट की सुविधा नहीं है। ऐसे में पूरे में अंधेरा फैला रहता है। रात के समय यदि किसी का अंतिम संस्कार करना हो तो अंधेरे में ही जाना पड़ता है। वहीं इस मामले में सीएमओ महादेव अवस्थी का कहना था कि इसकी जानकारी होने पर मंगलवार को ही वहां की लाइट ठीक करा दी गई है।