ऑस्ट्रेलियन ओपन : थीम ने किया बड़ा उलटफेर, विश्व नंबर एक नडाल को हराकर सेमीफाइनल में पहुंचे

|

Updated: 30 Jan 2020, 10:42 AM IST

सेमीफाइनल में Dominic Thiem का मुकाबला जर्मनी के Alexander Zverev से होगा। ज्वेरेव ने भी ऑस्ट्रेलियन ओपन के सेमीफाइनल तक का सफर पहली बार किया है।

मेलबर्न : साल के पहले ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन (Australian Open) के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रिया के डोमीनिक थीम ने बड़ा उलटफेर करते हुए विश्व नंबर-1 दिग्गज टेनिस स्टार स्पेन के राफेल नडाल (Rafael Nadal) को मात देकर अंतिम चार में जगह बनाई। पांचवीं सीड थीम ने चार सेट तक चले मुकाबले में टॉप सीड नडाल को 7-6 (3) 7-6 (4) 4-6, 7-6 (6) से हराकर पहली बार इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। अब सेमीफाइनल उनका मुकाबला जर्मनी के अलेक्जेंडर ज्वेरेव से होगा। ज्वेरेव ने भी ऑस्ट्रेलियन ओपन के सेमीफाइनल तक का सफर पहली बार किया है।

ऑस्ट्रेलियन ओपन : लिएंडर पेस भी हुए बाहर, आखिरी उम्मीद रोहन बोपन्ना से

नडाल को हारने के बाद कहा- भाग्यशाली था

थीम ने इस जीत के बाद कहा कि उनका मैच बहुत ही अच्छा गया। क्योंकि वह दोनों बेहतरीन फॉर्म में थे। उन्होंने कहा कि जब दो अच्छे खिलाड़ी भिड़ते हैं तो परिणाम कुछ भी हो सकता है। उन्हें लगता है कि वह भाग्यशाली थे। यह जरूरी था, क्योंकि नडाल महान खिलाड़ी हैं और उन्हें हराने के लिए आपको भाग्य की जरूरत पड़ती है।

ज्वेरेव वावरिंका को हराकर पहुंचे हैं सेमीफाइनल में

जर्मनी के एलेक्जेंडर ज्वेरेव ने तीन बार के ग्रैंड स्लैम चैंपियन स्विट्जरलैंड स्टान वावरिंका को हराकर ऑस्ट्रेलियन ओपन के अंतिम चार में अपनी जगह पक्की की है। वह न सिर्फ ऑस्ट्रेलियन ओपन में, बल्कि पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंचे हैं। सातवीं सीड ज्वेरेव ने पुरुष एकल वर्ग के क्वार्टर फाइनलमें चार सेटों तक चले मुकाबले में पूर्व चैंपियन वावरिंका को 1-6, 6-3, 6-4, 6-2 से मात दी। यह मुकाबला दो घंटे 19 मिनट तक चला।

ऑस्ट्रेलियन ओपन : 17 सालों में 15वीं बार सेमीफाइनल में पहुंचे फेडरर, छह बार रह चुके हैं विजेता

पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम के अंतिम चार में पहुंचने पर जताई खुशी

ज्वेरेव ने कहा कि यह उनके लिए एक अलग अहसास है। उन्होंने अन्य टूर्नामेंटों में बेहतर प्रदर्शन किया है। यहां तक कि वर्ल्ड टूर फाइनल्स भी जीता है, लेकिन वह कभी किसी ग्रैंड स्लैम के सेमीफाइनल में नहीं पहुंचे थे। इस वक्त आप कल्पना भी नहीं कर सकते कि वह कैसा महसूस कर रहे हैं। उनके लिए इस जीत के मायने क्या हैं। उन्होंने कहा कि अब अगर वह फाइनल में भी पहुंचते हैं तो वह उनके जीवन का सबसे खास दिन होगा।