TENNIS: मैच फिक्सिंग के दोषी पाए गए अर्जेटीनी टेनिस खिलाड़ी किकर, लगेगा आजीवन प्रतिबन्ध

|

Published: 25 May 2018, 03:18 PM IST

किकर पर इटली और कोलम्बिया में 2015 में आयोजित एटीपी चैलेंजर के दो मैचों के परिणाम प्रभावित करने का आरोप साबित हुआ है।

नई दिल्ली। अर्जेटीना के टेनिस खिलाड़ी निकोलस किकर को मैच फिक्सिंग को दोषी पाया गया है। इसे लेकर उन पर लम्बा प्रतिबंध लग सकता है। समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक टेनिस की भ्रष्टाचार निरोधी इकाई ने इसकी पुष्टि की है। किकर पर इटली और कोलम्बिया में 2015 में आयोजित एटीपी चैलेंजर के दो मैचों के परिणाम प्रभावित करने का आरोप साबित हुआ है।लंदन स्थित टेनिस इंट्रीगिटी यूनिट ने गुरुवार को एक बयान जारी कर इसकी पुष्टि की।


आजीवन प्रतिबन्ध लग सकता है
25 साल के किकर अपने ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर गम्भीर नहीं थे और वह टेनिस इंट्रीगिटी यूनिट के साथ सहयोग नहीं कर रहे थे। इस मामले की जांच स्वतंत्र भ्रष्टाचार निरोधी आधिकारी जेन मुल्काहे कर रही थीं।अब मुल्काहे ही किसी अन्य तारीख पर किकर के खिलाफ सजा का फैसला करेंगी। किकर अभी वर्ल्ड रैंकिंग में 84वें नम्बर के एकल खिलाड़ी हैं। 2017 में वह 78वें स्थान तक पहुंचे थे, जो अब तक का उनका श्रेष्ठ रैंकिंग है।


खेलने पर लगी रोक
वह इस साल जनवरी में ऑस्ट्रेलियाई ओपन के थर्ड राउंड में जगह बनाने में कामयाब रहे थे। इसके साथ ही वह इंडियंस वेल्स मास्टर्स में भी वह थर्ड राउंड तक पहुंच सके थे। अभी तक उनकी सजा तय नहीं हुई है लकिन वह टेनिस संघ द्वारा आयोजित किसी भी प्रोफेशनल टूर्नामेंट का हिस्सा नहीं बन सकते हैं।


फ्रेंच ओपन से बाहर हुए चुंग हेयोन
दक्षिण कोरिया के युवा टेनिस खिलाड़ी चुंग हेयोन टखने में चोट के कारण साल के दूसरे ग्रैंड़ स्लैम टूर्नामेंट फ्रेंच ओपन से बाहर हो गए हैं। चुंग ने फ्रांस के शहर लियोन में फ्रेंच ओपन से पहले एक अभ्यास टूर्नामेंट खेलने के बारे में सोच रहे थे, लेकिन चोट के कारण वह अब नहीं खेलेंगे। चुंग ने ट्विट कर बताया, "दुर्भाग्यवश मुझे कल लियोन में होने वाले टूर्नामेंट से नाम वापस लेना पड़ा और अब मैं फ्रेंच ओपन से नाम वापस ले रहा हूं।" उन्होंने लिखा, "मैं टखने की चोट से जूझ रहा हूं।"

Related Stories