‘फोन पर कहा कामरेज तापी किनारे हूं, ये लोग मुझे मार रहे है’

|

Published: 24 Jan 2021, 10:46 AM IST

- रहस्यमय हालात में गायब हुए चाय वाले का 60 घंटे बाद भी कोई सुराग नही

- जांच में ढिलाई का आरोप : दो सौ लोगों ने खटोदरा थाने का घेराव किया
- Allegations of laxity in investigation: 200 people surrounded the Khatodara police station in surat

सूरत. उधना दरवाजा सुमन देसाई की वाड़ी क्षेत्र से रहस्यमय हालात में गुरुवार को गायब हुए भाठेना के चायवाले का 60 घंटे बाद भी कोई सुराग नहीं मिलने पर करीब दो सौ लोगों ने खटोदरा पुलिस पर जांच में ढिलाई बरतने का आरोप लगाते हुए थाने का घेराव किया। अपहरण की आशंका व्यक्त करते हुए तुंरत कार्रवाई की मांग की।

जानकारी के अनुसार भाठेना-2 में सागर होटल चलाने वाले जबरसिंह पुत्र लक्ष्मणसिंह राजपूत (58) गुरुवार सुबह रहस्यमय हालात में लापता हो गए। राजस्थान के जालोर जिले के पादरा गांव का मूल निवासी जबरसिंह अपनी होटल पर ही रह रहे थे। वह बुधवार शाम को सुमन देसाई की वाड़ी में रहने वाले अपने फुफेरे भाई भंवरसिंह के घर पर आए थे।

रात में वहीं सोए और सुबह करीब साढ़े पांच बजे होटल जाने के लिए रवाना हुए। लेकिन होटल पर नहीं पहुंचे। उनकी होटल पर काम करने वाले पहाड़सिंहसे उनके होटल नहीं पहुंचने की खबर मिलने पर भंवरसिंह ने फोन पर बात करने की कोशिश की लेकिन बात नहीं हुई।

पुत्र से फोन पर कहा मुझे मार रहे हैं :

साढ़े नौ बजे गांव में उनका मोबाइल चालू हुआ और उनके गांव में उनके पुत्र नाबालिग पुत्र मांगसिंह से कहा कि मैं कामरेज में तापी किनारे हूं। जहां शव जलाए जाते हैं। मुझे पकड़ा है, ये लोग मुझे मार रहे है। तुम अपने मामा को हरिसिंह को भेजो। वे घबराहट में थे और फोन कट गया। गांव से खबर मिलने पर हरिसिंह ने फिर फोन किया, लेकिन बात नहीं हुई। दोपहर डेढ़ बजे बात हुई तो वह डरे हुए थे, रोते हुए फिर इतना ही बताया और फोन कट गया।

60 घंटे में कॉल डिटेल तक नहीं निकलवाई :

परिजनों ने तुंरत खटोदरा पुलिस को खबर की। पुलिस ने घर से निकलते समय के उनके फुटेज देखे। फिर कामरेज में तापी किनारे एक पुलिसकर्मी को परिजनों के साथ भेज कर पड़ताल की, लेकिन वहां कुछ नहीं मिला। उसके बाद पुलिस ने मात्र गुमशुदगी दर्ज कर मामले को रफदफा कर दिया। परिजनों का कहना है कि सीसीटीवी ट्रैक करना तो दूर, पुलिस ने 60 घंटे बाद भी उनके मोबाइल की कॉल डिटेल तक नहीं निकलवाई है।

कोई विवाद नहीं, परिजन परेशान :

हरिसिंह ने बताया कि जबरसिंह की किसी पर कोई देनदारी नहीं है और न ही किसी से कोई विवाद है। उनके गायब होने के बाद गांव में परिजन परेशान हैं। उनकी पांच पुत्रियां और दो पुत्र है। उनका रो-रो कर बुरा हाल है।

जांच जारी है :

पुलिस खोजबीन कर रही है। कॉल डिटेल जल्द मिल जाएगी और उधना दरवाजा समेत रास्ते के अन्य सीसीटीवी फुटेज की भी पड़ताल की जा रही है।
- टी.वी. पटेल (थाना प्रभारी, खटोदरा)