बिहार में नहीं मिला, आरोपित अनिल यादव

|

Updated: 18 Oct 2018, 09:56 PM IST

- पुलिस की टीमें अन्य स्थानों पर तलाश में जुटी

सूरत. गोडादरा क्षेत्र में साढ़े तीन साल की मासूम बच्ची से दरिंदगी की घटना का आरोपित अनिल उसकी तलाश में बिहार गई टीम को नहीं मिला। अब पुलिस की टीमें उसके अन्य संभावित स्थानों पर खोज में जुट गई है।


पुलिस सूत्रों के मुताबिक बिहार के बक्सर जिले के लोहाड़ी गांव के मूल निवासी अनिल यादव की खोज में पुलिस की एक टीम उसके गांव भेजी गई थी। पुलिस टीम ने उसके मूल निवास पर छापा मारा और स्थानीय पुलिस की मदद से बिहार में उसके मित्रों व परिचितों के यहां भी जांच की लेकिन पुलिस को वह नहीं मिला। उसका मोबाइल फोन बंद है।

हालांकि पुलिस उसका लॉकेशन जानने के लिए इलेक्ट्रोनिक सर्वेलंस की मदद ले रही है। साथ ही पुलिस बिहार के अलावा देश के अन्य शहरों में उसके संपर्को को भी टंटोल रही है। जहां उसके होने की अधिक संभावनाएं है। वहीं पुलिस के अलावा गोडादरा क्षेत्र में पीडि़त परिवार से जुड़े लोगो व सामाजिक संगठनों ने उसके फोटो लगे पैम्पलेट भी विभिन्न स्थानों पर लगाए है।

गौरतलब है कि गोडादरा क्षेत्र में रहने वाले महाराष्ट्रीयन दलित परिवार की साढ़े तीन साल की बच्ची रविवार रात घर के बाहर खेलते हुए लापता हो गई थी। सोमवार शाम जिस इमारत में किराए के मकान में रहती थी। उसी इमारत के भूतल के एक कमरे से उसका प्लास्टिक के बोरे में बंधा शव मिला था। पोस्टमार्टम रिर्पोट में बच्ची से बलात्कार, अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने व उसके बाद गला घोंट कर उसकी हत्या करने की पुष्टी हुई थी।

जिस कमरे से बच्ची का शव बरामद हुआ था। उस कमरे में रहने वाला अनिल यादव रात में संदिग्ध हालात में अपने कमरे को ताला लगा कर फरार हो गया था। पुलिस का मानना है कि अनिल ने ही बच्ची का अपहरण कर उसके साथ बलात्कार किया और फिर उसकी हत्या कर दी।

नहीं मिला आरोपी
पुलिस टीम आरोपित की तलाश में जुटी है। कुछ जगहों पर छापे मारी की गई है लेकिन अभी तक आरोपी नहीं मिला है।
- आर.आर.सरवैया (एसीपी, क्राइम)