टक्कर के बाद बाइक से गिरी भतीजी की ट्रक से कुचलकर मौत, ग्रामीणों ने ट्रक में लगाई आग, शव रखकर प्रदर्शन

|

Published: 19 Jan 2021, 10:08 PM IST

Road accident: बाल-बाल बचे पिता-पुत्र, खेत में आलू खोदने जा रहे बाइक सवार पिता-पुत्र (Father-son) व भतीजी को सीमेंट लोड ट्रक ने मारी थी टक्कर, 4 घंटे तक रहा चक्काजाम (Road blockade)

विश्रामपुर. ग्राम डेडरी के पुल से करीब 100 मीटर पहले अंधे मोड़ पर मंगलवार की सुबह सीमेंट लोड ट्रक ने बाइक सवारों को टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि बाइक सवार व्यक्ति व उसका 6 वर्षीय पुत्र सड़क पर जा गिरे, जबकि उसकी 12 वर्षीय भतीजी ट्रक के पहियों के नीचे आ गई। (Truck crushed niece)

बुरी तरह कुचल जाने के कारण बालिका की मौके पर ही मौत (Death) हो गई। इस घटना से आक्रोशित भीड़ ने ट्रक को आग के हवाले कर दिया। स्थिति तनावपूर्ण होने पर अधिकारी बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। परिजन व ग्रामीणों ने सड़क पर ही मृतका का शव रखकर 4 घंटे तक प्रदर्शन (Protest) किया।

एसडीएम ने परिजन व ग्रामीणों को समझाइश दी तब जाकर मामला शांत हुआ। मृतका के परिजन को तात्कालिक सहायता राशि भी देने का आश्वासन दिया गया। इधर पिता व पुत्र को गंभीर हालत में अंबिकापुर रेफर कर दिया गया है।


सूरजपुर जिले के बिश्रामपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कुरूवां निवासी आलम राजवाड़े अपने 6 वर्षीय पुत्र व 12 वर्षीय भतीजी नेहा के साथ मंगलवार की सुबह लगभग 10 बजे आलू खोदने के लिए ग्राम डेडरी स्थित पुल के समीप खेत जाने बाइक से निकला था।

रास्ते में ग्राम डेडरी स्थित पुल के से करीब 100 मीटर पूर्व अंधे मोड़ के पास सामने से सीमेंट लोड ट्रक क्रमांक सीजी 15 बीएफ 9882 ने बाइक को टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी पिता व पुत्र दूर जा गिरे। उन्हें गंभीर चोटें आईं। वहीं नेहा नीचे गिरकर ट्रक के पहियों के नीचे आ गई। शरीर बुरी तरह कुचल जाने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

वहीं बाइक भी ट्रक में फंसकर क्षतिग्रस्त हो गई। ट्रक चालक मौके पर ही वाहन छोड़कर फरार हो गया। घटना के बाद लोगों की सहायता एवं विश्रामपुर पुलिस की मदद से दोनों ही गंभीर रूप से घायल पिता-पुत्र को जिला चिकित्सालय सूरजपुर भेजा गया। यहां से उन्हें अंबिकापुर रेफर कर दिया गया। उनकी स्थिति काफी नाजुक बनी हुई है।


शव को सड़क पर रखकर किया प्रदर्शन
दुर्घटना व ट्रक में आग लगाए जाने की जानकारी मिलने पर एसडीएम पुष्पेंद्र शर्मा, एएसपी, सीएसपी, तहसीलदार सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। तनावपूर्ण स्थिति देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। दमकल वाहन को बुलाकर ट्रक में लगी आग बुझाई गई।

इधर परिजन व ग्रामीण मृतका का शव सड़क पर रखकर प्रदर्शन कर रहे थे। एसडीएम व अन्य अधिकारियों ने किसी तरह समझाइश देकर मामले को शांत कराया। एसडीएम ने तात्कालिक सहायता राशि भी देने का आश्वासन दिया।

अधिकारियों की समझाइश के बाद मृतका का शव पीएम के लिए अस्पताल भेजा गया। इस घटना के बाद कुरूवां से मानी चौक तक जाने वाला मार्ग तकरीबन 4 घंटे तक बाधित रहा।