लॉक डाउन के बावजूद हमारा जिला श्रीगंगानगर प्रदेश में सिरमौर

|

Published: 03 May 2020, 11:36 PM IST

Despite the lock down, our district Sirmour in Sriganganagar region- स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण की रैकिंग में प्रदेश में नम्बर वन.

श्रीगंगानगर। कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए देश व्यापी लॉक डाउन के बावजूद ग्रामीण क्षेत्र में खुले में शौच से मुक्त करने के लिए स्वस्थ भारत मिशन ग्रामीण के तहत हमारा जिला श्रीगंगानगर प्रदेश में सिरमौर बन गया है। केन्द्र सरकार के स्वस्थ भारत मिशन ग्रामीण में हर जिले की जिला परिषद की रैकिंग की प्रक्रिया चल रही है।

जिला पूरे प्रदेश में पहले पायदान के साथ साथ देश में 146 वां स्थान है। हालांकि इस रैकिंग में आदर्श शौचालय और सामुदायिक शौचालय निर्माण के अंक अभी जोड़े नहीं गए है, अन्यथा देश के टॉप बीस में जिले का नम्बर आता। लॉक डाउन के कारण पिछले सवा महीने से शौचालय निर्माण जैसे काम अटके हुए है लेकिन जनवरी से लगातार किए जा रहे कार्यो के कारण रैकिंग में कोई कमी नहीं आई है।

इस वजह से ही प्रदेश स्तर में गत निर्माण कार्यो के मूल्यांकन में जिले की रैकिंग में गिरावट नहीं आई। इससे पहले श्रीगंगानगर जिला परिषद को वर्ष 2016 में सभी योजनाओं में बेस्ट क्रियान्वित करने पर प्रदेश में पहला स्थान प्राप्त करने पर 25 लाख रुपए राशि मिली थी।

वहीं वर्ष 2017 में प्रधानमंत्री आवास योजना में देश में नम्बर वन रहने पर पचास लाख रुपए का पुरस्कार मिला।
जिला परिषद की गाइड लाइन के अनुसार ग्रामीण क्षेत्र में खुले में शौच से मुक्ति पर स्वच्छ भारत मिशन में नए शौचालयों का निर्माण करना, जीयो टैग, दूसरे जिलों की टीम द्वारा सत्यापन करना आदि कार्यो में 20 अंक, ग्रामीण क्षेत्र में स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के संबंधित कार्यशाला या शिविर लगाना, स्वच्छता जागरूकता करने के लिए स्वच्छता ग्राही की नियुक्तियां, शौचालय निर्माण का भुगतान, स्वच्छता ग्राही को भुगतान आदि पर भी 20 अंक, सामुदायिक शौचालय जिससे खाद बनाने के चैम्बर का निर्माण सहित और इन शौचालयों के निर्माण पर भुगतान के लिए 20 अंक और जिला स्तर पर स्वच्छता संबंधित जागरूकता के लिए किए कार्र्यशाला या संगोष्ठी करना, ओडीएफ कार्यो में लगे कार्मिकों को प्रशिक्षण आदि पर 20 अंक कुल 80 अंकों की गणना शामिल है।

ऐसे में श्रीगंगानगर जिला परिषद ने अब तक 52.55 प्रतिशत अंक लेकर प्रदेश में नम्बर वन स्थान प्राप्त किया है।
इस बीच जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी महावीर ङ्क्षसह राजपुरोहित का कहना है कि टीम वर्क से पहले पायदान पर यह सही है कि स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण में हमारा जिला प्रदेश में अब तक पहले पायदान पर है।

लॉक डाउन के बाद जैसे जैसे अधूरे निर्माण कार्य पूरा होंगे तो राष्ट्रीय स्तर पर टॉप 20 में हमारा जिला आ सकता है। इसके लिए ग्राम पंचायत स्तर से फीडबैक लेकर काम शुरू कराने की प्रक्रिया चल रही है।