Tokyo olympic 2020 : Toyota की इस नन्ही कार ने जीता सबका दिल

|

Published: 29 Jul 2021, 05:27 PM IST

Tokyo olympic 2020: टोक्यो ओलंपिक में टोयोटा की नन्ही कार ने बोल बॉय का काम करके सबका दिल जीत लिया, नन्हीं कार के बारे में जानिए खबर में विस्तार से

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वजह से ओलिंपिक 2020 का आयोजन इस बरस जापान के टोक्यो शहर में हो रहा है। जिसे लोग टोक्यो ओलंपिक 2020 के नाम से जान रहे हैं। टोक्यो ओलंपिक की शुरुआत 23 जुलाई से हो चुकी हैं और इसका समापन 8 अगस्त को हो जाएगा। अभी टोक्यो ओलंपिक 2020 दुनिया का सबसे सर्च किए जाने वाला कीवर्ड बना हुआ है इसी बीच एक और खबर टोक्यो ओलंपिक के ऑफिशल स्पॉन्सर टोयोटा के बारे में आई है। टोयोटा ओलंपिक के स्पॉन्सर होने के नाते खिलाड़ियों को यहां से वहां जाने में और कार्यों में भी टोयोटा की व्हीकल्स का उपयोग किया जा रहा है।

Read more :- Tokyo Olympics 2020: पीवी सिंधु ने कहा-शुरू से ही मैच दर मैच रणनीति पर चल रही हूं

टोयोटा ने अपनी एक नन्ही कार को बॉल बॉय के रूप में मैदान पर उतारा है, जिसकी चारों ओर चर्चा हो रही है। जापान और फिजी के बीच खेले गए रग्बी मैच में इस नन्ही कार को बतौर बॉल बॉय मैदान पर उतरा गया था। जिसका काम मैदान से बाहर गई बॉल को वापस लाकर खिलाड़ियों तक पहुंचाना होता है। टोयोटा की इस नन्ही कार की गेंद को बड़े सलीके से लाते हुए हैं समय की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहे हैं। साथ ही इस नन्ही कार ने वहां भी खूब दर्शकों का दिल जीता। कुछ दर्शकों ने तो इस कार की तुलना वॉक्सवैगन आईडी.4 इलेक्ट्रिक कार (Volkswagen ID.4 electric car) से करने लग गए।

बता दें कि वॉक्सवैगन आईडी.4 इलेक्ट्रिक कार का का उपयोग भी ऐसे ही काम के लिए फुटबॉल के महाकुंभ यूरो 2021 और चैंपियनशिप में किया गया था। जिस प्रकार टोयोटा टोक्यो ओलंपिक का ऑफिशल स्पॉन्सर हैं उसी प्रकार वोक्सवैगन यूरो 2021 का ऑफिशल स्पॉन्सर था।

Read more :- Tokyo Olympics 2020: बॉक्सर सतीश मेडल से एक जीत दूर, क्वार्टर फाइनल में पहुंचे

टोयोटा पहले ही अपनी बहुत सी ड्राइवरलेस कारों से टोक्यो ओलंपिक में खिलाड़ियों को होटल से खेलगांव ले जाने में मदद कर रही हैं। टोयोटा की इन ड्राइवरलेस गाड़ियों में एक बार चार्ज करके 150 किलोमीटर तक चलने की क्षमता होती हैं। जिसमें गाड़ी की स्पीड 19kmph तक रखी जा सकती हैं। इस ड्राइवरलेस गाड़ी में एडवांस सेंसर और कैमरे वगैरह लगे हुए हैं।

भारत ने जीता 1 सिल्वर मेडल -

टोक्यो में आयोजित इस ओलंपिक में भारत में अभी तक केवल एक सिल्वर मेडल जीता हैं। मणिपुर की वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने ओलंपिक में भारत के लिए मेडल्स का खाता खोला है।