महामारी में ऐवरेस्ट फतह करने वाली पहली भारतीय हैं ताशी यांगजोम

|

Published: 15 May 2021, 07:45 PM IST

ताशी से पहले संस्थान के 8 पुरुष इंस्ट्रक्टर्स ही माउंट ऐवरेस्ट पर चढ़ाई की है। यह पहली बार है जब संस्थान की महिला इंस्ट्रक्टर ने यह उपलब्धि हासिल की है।

अरुणाचल प्रदेश की 37 वर्षीय ताशी यांगजोम 2021 में माउंट एवरेस्ट फतह करने वाली पहली भारतीय महिला पर्वतारोही बन गई हैं। ताशी ने 9 मई को चढ़ाई शुरू की और 11 मई की सुबह 6 बजे ऐवरेस्ट की चोटी पर तिरंगा फहराकर देश का नाम ऊंचा किया है। महामारी संकट में ऐसा करना भी उनकी दृढ़ इच्छा शक्ति को दर्शाता है क्योंकि साल के शुरुआत में ही एवरेस्ट बेस कैंप में कोरोना संक्रमण की खबरें सामने आई थीं।

कौन हैं ताशी यांगजोम
यांगजोम भारत के प्रमुख खेल संस्थानों में से एक राष्ट्रीय पर्वतारोहण और एलाइड खेल संस्थान (NIMAS या निमास), दिरांग से प्रशिक्षित हैं। बीते तीन साल में इस संस्थान से ऐवरेस्ट फतह करने वाली वे नौवीं इंस्ट्रक्टर हैं। ताशी से पहले संस्थान के 8 पुरुष इंस्ट्रक्टर्स ने ही माउंट ऐवरेस्ट पर चढ़ाई की है। यह पहली बार है जब संस्थान की महिलाइंस्ट्रक्टर ने यह उपलब्धि हासिल की है।

एकमात्र महिला इंस्ट्रक्टर
निमास में सिविल प्रशिक्षक ताशी यांगजोम संस्थान की एकमात्र स्थायी महिला पर्वत प्रशिक्षक हैं। उन्हें बचपन से पर्वतारोहण का शौक है। माउंटेनीयरिंग के अलावा ताशी को व्हाइट वाटर राफ्टिंग स्पोर्ट भी पसंद है। अरुणाचल के पश्चिम कामेंग जिले के लुब्रांग गांव की रहने वाली ताशी वर्तमान में दिरांग में ही रहती हैं।

फैक्ट फाइल
-17 लोगों के ऐवरेस्ट बेस कैम्प में कोरोना संक्रमित होने का दावा कर रहा है नेपाल
-8849 मीटर ऊंची चढ़ाई है ऐवरेस्ट की जहां ऑऊक्सीजन लेवल कम होने के कारणसांस लेना मुश्किल है
-400 से अधिक अभियान परमिट जारी किएगए थे इस साल, 2020 में यहां अभियान रद्द कर दिए गए थे
-30 मई, 2013 को स्थापित हुआ यग संस्थान 52 एकड़ में फैला हुआ है -29 हजार फीट की ऊंचाई पर पहुंची ताशी जो दुनिया का सबसे ऊंचा शिखर है
-17,598 फीट की ऊंचाई पर है ऐवरेस्ट का बेस कैम्प