जिले में 101 स्कूल ऐसे जो बच्चों के लिए बन सकते है घातक

|

Published: 06 Jan 2020, 06:00 AM IST

शिक्षा विभाग ने किया अशासकीय स्कूलों को चिन्हित, इस सत्र में नही किया सुधार तो जाएगी मान्यता, रिछोदा हादसे के सतर्क हुआ शिक्षा विभाग

शाजापुर.
कहीं किसी स्कूल के ऊपर से हाईटेंशन लाइन गुजर रही है तो कहीं स्कूल के पास गड्ढा खुदा हुआ है। कहीं रेल की पटरी गुजर रही है। तो कहीं स्कूल के पास खुला कुआं बना हुआ है। कहीं जर्जर भवन में स्कूल संचालित हो रहा है। जो स्कूली बच्चों के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकते हैं। इस तरह के जिलेभर से १०१ स्कूल शिक्षा विभाग ने चिंहित किए हैं। जिनकी खामियों की वजह से बच्चों की जान पर बन सकती है। शिक्षा विभाग ने ऐसे सभी स्कूल संचालकों को नवीन सत्र शुरु होने के पहले इस तरह की अव्यवस्थाओं और लापरवाहियों को सुधारने का समय दिया है। नहीं तो इन स्कूलों की मान्यता रद्द कर दी जाएगी।
बता दें १८ अक्टूबर २०१९ को जिला मुख्यालय से करीब 25 किलोमीटर दूर ग्राम रिछोदा में संचालित ए अकेडमी विद्यालय में जब बच्चों की छुट्टी हुई तो बच्चों को एक मारुति वैन में बैठाकर प्रतिदिन की तरह रवाना किया जाने लगा। वैन में 21 बच्चों को बैठाकर वाहन चालक ने वाहन को रिवर्स लिया। ऐसे में उसका वाहन संतुलन खो गया। जिससे बच्चों से भरी वेन स्कूल परिसर में ही बने हुए 35 फीट गहरे बगैर मुंडेर के कच्चे कुएं में जा गिरी। इसके बाद मौजूद अन्य लोगों ने तत्काल वेन का दरवाजा खोलकर बच्चों को कुएं से बाहर निकाला लेकिन 18 बच्चों को तो सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। जबकि दो बच्चों की डूबने से मौत हो गई। जिनके शव बाद में कुएं से निकाले गए। इसके बाद से ही लापरवाही और अव्यवस्था वाले स्कूलों की जांच भी की गई। जिसके बाद शिक्षा विभाग ने ऐसे जर्जर, खतरनाक १०१ स्कूल चिंहित किए जो बच्चों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। शिक्षा विभाग ने इन स्कूलों के संचालकों को नोटिस भी जारी किया है। जिसमें कहा गया है नवीन सत्र शुरु होने के पहले जो खामियां स्कूल में उन्हें दूर कर ली जाए, नहीं सत्र शुरू होने से पहले उन्हें मान्यता नहीं दी जाएगी। इनमें कुछ स्कूल ऐसे में जो घरों में संचालित हो रहे हैं। उन्हें स्थान परिवर्तन के लिए भी कहा गया है।

ताकि प्रभावित न हो बच्चों की पढ़ाई
जिला शिक्षा अधिकारी यूयू भिड़े ने बताया कि बड़ी खामियों वाले १०१ स्कूलों को चिंहित किया गया है। जिस स्थिति में स्कूल संचालित किए जा रहे वह बहुत ही खराब है। सत्र शुरू हो जाने की वजह से इन स्कूलों पर कार्रवाई नहीं की गई, ताकि स्कूल में पढ़ रहे बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो, लेकिन नए सत्र के पहले इन स्कूलों में सुधार के लिए नोटिस दिया गया है, जहां सुधार नहीं होगा उनकी मान्यता रद्द कर दी जाएगी।

अनेक स्कूलों की शिकायतें आई थी सामने
बता दें कि ग्राम रिछौदा में स्कूल परिसर में बिना मुंडेर के कुएं में वेन गिरने से दो बच्चों की मौत हो गई थी। इस घटना के बाद से ही अनेकों खतरनाक स्कूलों की शिकायत शिक्षा विभाग को की गई थी। वहीं पत्रिका ने भी अनेक स्कूलों की लापरवाही उजागर की थी। जिसके बाद शिक्षा विभाग ने १०१ स्कूल बड़ी खामियों वाले चिंहित किए है। जिन पर कार्रवाई की जाना है।

इनका कहना
सभी स्कूलों में जांच कर बच्चों की सुरक्षा को लेकर व्यवस्थाएं देखी गई है। जिसमें १०१ स्कूलों में बड़ी खामियां पाई गई। जिन्हें नोटिस भी जारी किए गए हैं। नए सत्र के पूर्व इन खामियों को दूर नहीं किया तो स्कूलों को मान्यता नहीं दी जाएगी।
- उदय उपेंद्र भिड़े, जिला शिक्षा अधिकारी, शाजापुर