बॉक्स ब्रिज का वर्चुअल लोकार्पण, सीएम ने बिना नाम लिए सज्जन वर्मा पर साधा निशाना

|

Published: 06 Jul 2021, 09:40 PM IST

इंदौर-बैतूल और जबलपुर-जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग को जोड़ने नया मार्ग बनाने का प्रस्ताव...बॉक्स ब्रिज का सीएम ने किया वर्चुएल लोकार्पण

सीहोर/नसरुल्लागंज. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीप नदी पर पांडागांव के समीप बने बॉक्स ब्रिज का मंगलवार को वर्चुअल लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने लोकार्पण करते हुए बिना नाम लिए पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा पर जमकर हमला बोला। वहीं मुख्यमंत्री से घोषणा की है कि नसरुल्लागंज-सीहोर मार्ग क्षतिग्रस्त हो गया है। 149 करोड़ रुपए की लागत से इसका निर्माण सीमेंट कंक्रीट से किया जाएगा। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि शाहगंज, बुदनी, रेहटी होते हुए इंदौर-बैतूल और जबलपुर-जयपुर राष्ट्रीय राज मार्ग को जोडऩे के लिए एक नया राष्ट्रीय मार्ग बनाने का प्रस्ताव केन्द्र सरकार को भेजा है, जल्द ही उस पर निर्णय होगा।

ये भी पढ़ें- मध्यप्रदेश के 23वें राज्यपाल होंगे मंगूभाई छगनभाई पटेल

बिना नाम लिए सज्जन वर्मा पर साधा निशाना
वर्चुअल लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सीप नदी पर ब्रिज का बिना लोड टेस्ट के किसी ने ये दुस्साहस किया है कि गाड़ी निकाल दो। ऐसे में विभाग की एक प्रक्रिया होती है और वैज्ञानिक रूप से पुल तैयार नहीं होगा, तब तक औपचारिक उद्घाटन नहीं किया जा सकता है। पहले विभाग लोड टेस्ट करता है, उसके बाद अनुमति जारी की जाती है कि पुल वाहनों के आवागमन के लिए उपयुक्त है, जिन लोगों ने ये दुस्साहस किया, वह घोर निंदनीय है। यह जनता के लिए भी जोखिम हो सकता था, अब जब लोड टेस्ट हो गया है, विभाग ने कहा कि पुल जनता के लिए तैयार है, तब लोकार्पण विधिवत संपन्न हो रहा है।


ये भी पढ़ें- दौरा बीच में छोड़ उज्जैन से दिल्ली रवाना हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया

कांग्रेस पर साधा निशाना
कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सवा साल कांग्रेस की सरकार रही, पूरे बुदनी, नसरुल्लागंज क्षेत्र में एक गिट्टी लगाई हो तो बता दें। जिन्होंने उद्घाटन किया, वह पीडब्यूडी मंत्री थे, उन्होंने एक कंकड़ नहीं लगाया मेरे क्षेत्र में। मध्यप्रदेश का विकास ठप हो गया। सड़क बन रहे थे, रुक गए। भवनों के निर्माण रोक दिए, ऐसा अत्याचार किया, मेरे क्षेत्र में जिन निर्माण कार्य के लिए पैसा स्वीकृत कर चुके थे, निर्माण एजेंसी तय थी विधिवत टेंडर हुए थे, सारे काम रोक दिए। यहां तक कि आवास से लेकर गरीबों के कल्याण के सभी कार्य रोक दिए। उन्होंने कहा कि धिक्कार है ऐसे लोगों पर जो सत्ता में आने पर विकास के काम रोक देते हैं। मुझे लगता है कि यह भगवान की मर्जी थी कि भाजपा की सरकार बन गई। हम कोविडकाल में आए, लेकिन विकास के काम नहीं रुकने दिए।

ये भी पढ़ें- राष्ट्रपति पद के प्रमुख दावेदार थे डा. थावरचंद गहलोत, अब संभालेंगे कर्नाटक का राजभवन

पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा के उद्घाटन करने पर दर्ज हुई थी FIR
बता दें कि पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने 30 जून को नेमावर जाते वक्त इस बॉक्स ब्रिज का उद्घाटन कर दिया था और लोगों से पुल का इस्तेमाल करने के लिए कहा था। तब बीजेपी ने कांग्रेस और पूर्व मंत्री पर जमकर निशाना साधा था। साथ ही दूसरे ही दिन उनके खिलाफ पीडब्ल्यूडी की ब्रिज कॉर्पोरेशन ने ये कहते हुए एफआईआर भी दर्ज कराई थी कि बिना टेस्टिंग के ही पूर्व मंत्री ने बिना अनुमति के ब्रिज का उद्घाटन किया है।

देखें वीडियो- रंगदारी न देने पर युवक को सरेराह पीटा