एमपी के इस शहर में अनोखे तरीके की विदाई, कर्मचारी को दूल्हे की तरह सजाया फिर घोड़े पर बैठाकर निकाला जुलूस

|

Published: 05 Sep 2021, 10:56 AM IST

देखने वाले बोले ऐसा भी हो विदाई समारोह

विदाई समारोह

जावर. सेवानिवृत्त होने पर साधारण तरीके से कार्यक्रम आयोजित कर विदाई देते हुए देखा होगा, लेकिन जावर शहर में कुछ अलग ही नजारा देखने को मिला। यहां नगर परिषद से रिटायर हुए कर्मचारी का घोड़े पर बैठाकर जुलूस निकालकर विदाई दी गई। जिसने इस दृश्य को देखा वह देखते ही रह गया।

जावर नगर परिषद कर्मचारी जगदीशचंद्र राठौर के सेवानिवृत्त होने पर अधिकारी, कर्मचारी ने उनका सम्मान और विदाई समारोह का आयोजन किया। नगर परिषद कार्यालय में हुए कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में प्रशासक व तहसीलदार रत्नेश श्रीवास्तव, सीएमओ डीपी दुबे थे। राठौर का सम्मान कर विदाई दी गई। खास बात यह रही कि राठौर का घोड़े पर बैठाकर बैंडबाजों के साथ जुलूस निकाला गया। जहां से भी यह जुलूस निकला लोग देखते ही रह गए।

इधर बैठक का हुआ आयोजन
सीहोर. विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल सिद्धपुर के प्रखंड इछावर के गांव आर्या में स्थापना दिवस को लेकर बैठक आयोजित की गई। बैठक में धर्मांतरण, गोसुरक्षा, राष्ट्ररक्षा सहित विधर्मियों के चलाए जा रहे कुचक्र व आगामी कार्यक्रमों को लेकर चर्चा की गई। प्रांत सहमंत्री सुनील कु मार शर्मा ने कार्यकर्ताओं का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि तुम तन, मन, धन से धर्म की रक्षा करों, धर्म भी तुम्हारी रक्षा करेगा। विधर्मियों के कुचक्र से सावधान रहकर सनातन धर्मियों को बचाना है। गोरक्षा विभाग प्रांत मंत्री अजीत शुक्ला ने कहा कि देश में धर्म जब तक ही रहेगा, जब तक गाय, गंगा की पूजा होती रहेगी। जिलाध्यक्ष जगदीश कुशवाह ने कहा कि रष्ट्ररक्षा सर्वोपरि है। दुनिया में केवल भारत हीं है जहां पर सनातनधर्मी बहुसंख्याक है, संख्या घटी तो देश बट जाएगा। इस अवसर पर जिला उपाध्यक्ष देवाशंकर जाट,जिला संयोजक विवेक राठौर, जिलामंत्री राकेश कुमार विश्वकर्मा थे।