फसल बर्बाद हुई तो पेड़ों पर चढ़े किसान, सरकार को जगाने के लिये 2 घंटे तक बजाई घंटी, वीडियो Viral

|

Published: 08 Sep 2021, 10:10 PM IST

जिले के संग्रामपुर गांव में सोयाबीन की खराब फसल को लेकर किसानों ने पेड़ पर चढ़कर 2 घंटों तक घंटी बजाकर सरकार को जगाने का प्रयास किया है।

सीहोर. मोदी सरकार द्वारा किसानों के लिये लागू किये गए कानूनों के विरोध में जहां एक तरफ देशभर के किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, जिसके चलते मोदी सरकार किसानों को राहत के लिये कई महत्वपूर्ण फैसले लेने की तैयारी कर रही है। वहीं दूसरी तरफ मध्य प्रदेश में किसानों ने सरकार का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने के लिये अनोखा तरीका निकाला है। दरअसल, जिले के संग्रामपुर गांव में सोयाबीन की खराब फसल को लेकर किसानों ने पेड़ पर चढ़कर 2 घंटों तक घंटी बजाकर सरकार को जगाने का प्रयास किया है।


आपको बता दें कि, इस बार किसानों की फसल कीट और अफलन से खराब हो गई है। किसानों ने सरकार का ध्यान आकर्षित करने के लिए 2 घंटे तक घंटी बजाई और फसल का सर्वे न होने और पीछले साल की बीमा राशि न मिलने पर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की।

 

आखिरकार अब तो हमारी सुन लो सरकार

किसान राजेश मेवाडा के अनुसार, अफलन फसल के सर्वे के बाद आर्थिक सहायता देने के लिए 2 हफ्ते पहले कलेक्ट्रेट में ज्ञापन दिया। उस समय अफसरों ने कहा था कि पटवारियों की हड़ताल खत्म होते ही सर्वे कराए जाएंगे। लेकिन जिले के किसानों का आरोप है कि, सर्वे तो दूर की बात आज तक कोई फसल देखने तक नहीं आया। राजेश ने कहा कि, अब किसानों का सब्र खत्म हो चुका है, यही कारण है कि, आज किसानों ने प्रदर्शन के इस तरीके से सरकार और प्रशासन को जगाने का प्रयास किया है।

 

पढ़ें ये खास खबर- किसान पर तहसीलदार की दबंगई, मोबाइल फैंककर मारा, अपशब्द भी कहे, वीडियो Viral


इस तरह किसानों ने किया प्रदर्शन

इसी के चलते बुधवार को किसान विरोध जताते हुए हाथों में खराब फसल और घंटी लेकर पेड़ों पर चढ़ गए। पेड़ों के ऊपर से घंटी बजा कर नारेबाजी करते हुए कहा- आखिरकार अब तो हमारी सुन लो सरकार।


क्या कहते हैं जिम्मेदार

मामले को लेकर सीहोर कृषि विभाग के एडीडीए रामशंकर जाट ने कहा कि, सोयाबीन फसल में कीट से नुकसान हुआ है। लेकिन नुकसान हुआ कितना है, इसका पता फसल कटाई के बाद उत्पादन के आधार पर ही चल सकेगा। हमारी टीम लगातार फसल की जानकारी ले रही है।