Cholera infection : जिले में हैजा रोग फैलने की आशंका, दूध डेरियों और होटलों पर प्रशासन ने की छापेमारी

|

Published: 25 Jul 2019, 10:32 AM IST

डेयरी व होटलों पर छापा: कलेक्टर ने हैजा संक्रमण की आशंका व्यक्त कर सीहोर जिला को किया नोटिफाइड

सीहोर. हैजा संक्रमण की संभावनाओं को देखते हुए कलेक्टर collector ने बुधवार को सीहोर जिले को आपत्ति हैजा विनियम 1979 के नियम-तीन के तहत नोटिफाइड किया है। कलेक्टर अजय गुप्ता ने बुधवार दोपहर को आदेश जारी कर होटल, दूध डेयरी milk dairy , फल-सब्जी की जांच investigation के लिए तहसील स्तर पर टीम बनाई और शाम को ही टीम सक्रिय हो गईं। सीहोर और आष्टा में खाद्य औषधि प्रशासन की टीम ने कई दूध डेरियों पर छापामार कार्रवाई कर सेंपल लिए हैं। जिलेभर से करीब सेंपल samples लिए गए हैं।

 

जिले में संक्रमण रोग हैजा फैलने की आशंका

जानकारी के अनुसार सीहोर जिले में संक्रमण रोग हैजा फैलने की आशंका है। सुरक्षा की दृष्टि से कलेक्टर अजय गुप्ता से पूरे जिले को नोटिफाइड किया है। अब कोई भी व्यक्ति प्रतिबंधित अवधि में बाहर से खाद्य सामग्री नहीं ला सकेंगा। कलेक्टर का यह आदेश आगामी छह महीने तक प्रभावी रहेगा। सीहोर और आष्टा में कलेक्टर के आदेश के बाद छापामार कार्रवाई शुरू हो गई है। छापामार कार्रवाई डिप्टी कलेक्टर रवि वर्मा, तहसीलदार रघुवीर मरावी, नायब तहसीलदार शैफाली जैन और संतोष धाकड़ की टीम ने की है।

तीन विभाग की टीम ने एकसाथ की कार्रवाई
तीन विभाग की टीम एक साथ जब शहर में कार्रवाई करने निकली तो होटल, डेयरी और खाद्य सामग्री निर्माताओं में हड़कंप मच गया। टीम ने जांच के दौरान डेयरी से 75 लीटर दूषित छाछ जब्त कर नष्ट कराई। सपना फूड इंस्ट्रीज में फर्श पर डाले गए लगभग तीन क्विंटल नमकीन को भी उसी समय नष्ट कराया गया। सीहोर के साथ ही आष्टा में भी महाकाल मावा भंडार, मथुरा मावा भंडार एवं मार्डन डेयरी से पनीर, मावा एवं घी के सेंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं।

एक दर्जन लिए सेंपल
सख्ती के बाद खाद्य एवं औषधि प्रशासन, नापतौल विभाग और खाद एवं नागरिक आपूर्ति विभाग की टीम ने जिलेभर में एक साथ कार्रवाई की। सीहोर नगर के शर्मा मावा भंडार, कृष्णा डेयरी, सपना नमकीन, रतलामी मिष्ठान भंडार, शर्मा डेयरी एंड मावा भंडार, विधाता फास्ट्स गोडाउन, यादव रेस्टोरेंट, संतोष मिष्ठान से मावा, दही, पनीर, घी, तेल और नमकीन के सेंपल लिए हैं। यह सभी सेंपल जांच के लिए भोपाल स्थित प्रयोगशाला भेजे जा रहे हैं। सेंपलिंग के साथ ही जांच दल ने साल घरेलू गैस सिलेंडर और एक गैस भट्टी भी जब्त की है। इन घरेलू गैस सिलेंडर का दुकानदार व्यवयायिक उपयोग कर रहे थे।