अपहरण कर नाबालिग से ज्यादती करने वाले को 20 वर्ष की कैद

|

Published: 21 Sep 2021, 11:07 AM IST

आष्टा कोर्ट ने सुनाया फैसला, अर्थदंड से भी किया दंडित

सजा

सीहोर. आष्टा प्रथम सत्र न्यायाधीश सुरेश कुमार चौबे की कोर्ट ने नाबालिग का अपहरण कर उसके साथ बलात्कार करने वाले आरोपी को 20 साल की सजा सुनाते हुए तीन हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया है। एक अन्य धारा में पांच साल का कारावास और दो हजार रुपए का जुर्माना लगाया है।

आष्टा अतिरिक्त जिला अभियोजन अधिकारी देवेंद्रसिंह ठाकुर और सहायक जिला अभियोजन अधिकारी महेंद्र सितोले ने बताया कि तीन मई 2020 की रात तीन बजे नाबालिग अचानक घर से गायब हो गई थी। परिजन ने उसे काफी तलाश किया और जब नहीं मिली तो सिद्दीकगंज थाना पहुंचकर संदेही के रूप में सुशीलनगर निवासी विक्रमसिंह पिता कोदाजी के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। पुलिस ने बरामदी के बाद नाबालिग से पूछताछ की तो बताया कि आरोपी ने उसके साथ गलत काम किया। इस मामले में सोमवार को आष्टा कोर्ट में सुनवाई हुई। प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश सुरेश कुमार चौबे ने आरोपी विक्रम को दोषी पाते हुए सजा के साथ अर्थदंड से दंडित किया है।

इधर की छापामार कार्रवाई
इधर नसरुल्लागंज थाना क्षेत्र के ठीकरीखेड़ा में आबकारी विभाग ने बड़ी कार्रवाई करते हुए कच्ची शराब और महुआ लाहन जब्त किया है। वही आरोपी के खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया है। जिला आबकारी अधिकारी कीर्ति दुबे ने बताया कि ठीकरीखेड़ा में अवैध शराब होने की सूचना मिली थी। अमले ने छापमार कार्रवाई करते हुए मौके से 11 लीटर कच्ची शराब और 60 किलो महुआ लहान जब्त कर नष्ट किया है। इसके अलावा अन्य दो प्रकरण में 30 लीटर कच्ची शराब व 750 किलोग्राम महुआ लाहन जब्त किया है। जब्त शराब और महुआ लाहन की कीमत 44 हजार 600 रुपए आंकी है। इस कार्रवाई के दौरान संभागीय उडऩदस्ता भोपाल के सहायक जिला आबकारी अधिकारी डीडी शुक्ला सहित अन्य अमला मौजूद था।