70 फीसदी भारतीय ओटीटी कंटेंट देखने में 4 घंटे खर्च करते हैं

|

Published: 12 Sep 2021, 07:03 PM IST

स्टडी में ये: हाल ही जारी इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में 78 प्रतिशत उपयोगकर्ताओं के स्मार्ट टीवी है। वहीं, इनमें से 93 प्रतिशत उपयोगकर्ता ज्यादातर इंटरनेट आधारित सामग्री ही देखने में रुचि रखते हैं।

भारतीय उपभोक्ताओं की आदतों में लगातार बदलाव आ रहे हैं। ये बदलाव सिर्फ शॉपिंग या उपभोग तक ही सीमित नहीं है, बल्कि मनोरंजन के स्तर पर भी ये परिवर्तन लागू होते हैं। इसी की एक झलक देखने को मिली हाल ही जारी हुई एक सर्वे 'इंडिया सीटीवी रिपोर्ट 2021' में। रिपोर्ट में कहा गया है कि, भारतीय कंज्यूमर लगातार पारंपरिक (लीनियर) टीवी से कनेक्टेड टीवी (सीटीवी) और ओटीटी की ओर बढ़ रहे हैं। इससे मीडिया कंटेंट की खपत में भी बड़ा बदलाव आया है। एफ्ले कंपनी मीडियास्मार्ट की ओर से जारी इस रिपोर्ट का कहना है कि यह सर्वे भारतीय उपभोक्ताओं के बदलते व्यूअरशिप पैटर्न को दर्शाती है।

89 फीसदी सोशल मीडिया यूजर्स
सर्वेक्षण में शामिल 78 प्रतिशत लोगों के पास स्मार्ट टीवी हैं और इनमें से 93 प्रतिशत उपयोगकर्ता ज्यादातर इंटरनेट-आधारित सामग्री में रुचि रखते हैं। रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि अधिकांश सीटीवी (स्मार्ट टीवी) उपयोगकर्ता युवा और शहरी वयस्क हैं जो पहले से ही मोबाइल के जरिए सोशल मीडिया और ओटीटी प्लेटफॉर्म पर सक्रिय हैं। सर्वेक्षण के अनुसार, उत्तरदाताओं में से 89 प्रतिशत सोशल मीडिया उपयोगकर्ता, 82 प्रतिशत ई-कॉमर्स उपभोक्ता और 44 प्रतिशत गेमर हैं।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 15 प्रतिशत से अधिक उत्तरदाता स्मार्ट टीवी पर सामग्री स्ट्रीम करने के लिए डोंगल का उपयोग करते हैं, 59 प्रतिशत स्मार्ट टीवी ऐप स्टोर के माध्यम से ऐप डाउनलोड करना पसंद करते हैं और 26 प्रतिशत ज्यादातर पहले से इंस्टॉल किए गए ऐप के माध्यम से सामग्री का उपयोग करते हैं। लगभग 70 प्रतिशत उत्तरदाता स्मार्ट टीवी पर 1 से 4 घंटे बिताते हैं। इनमें 91 फीसदी उपभोक्ता, स्मार्ट टीवी पर फिल्में देखने, 64 फीसदी संगीत स्ट्रीमिंग के लिए, 47 प्रतिशत गेम खेलने के लिए और 64 फीसदी उपभोक्ता समाचार देखना पसंद करते हैं।

इतना ही नहीं, 65 फीसदी से अधिक उत्तरदाताओं के पास एक से अधिक ओटीटी ऐप की सदस्यता है। अग्रणी ओटीटी प्लेटफार्मों में डिज्नी प्लस हॉटस्टार, अमेजन प्राइम वीडियो, नेटफ्लिक्स, जी५,एमएक्स प्लेयर, सोनी लिव, वूट और ऑल्ट बालाजी की 40 प्रतिशत से अधिक हिस्सेदारी है। यह सर्वे महानगरों और टियर 1 शहरों में पुरुष और महिला उत्तरदाताओं के लिए आयोजित किया गया था।