तो इसलिए हर चीज नीचे की तरफ गिरती है, जानें कैसे काम करता है पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण?

|

Published: 08 Oct 2020, 02:51 PM IST

  • हम किसी चीज को ऊपर फेंकते है तो गुरुत्वाकर्षण (Gravitation) का बल उस चीज को नीचे खीच लेता है.
  • जानिए क्या है यह गुरुत्वाकर्षण (Gravitation) और यह कैसे पैदा होता है?
 
 

नई दिल्ली। पृथ्वी (Earth) सभी चीजों को खींचती है। यानी जब हम कोई सामान आकाश की तरफ फेंकते हैं तो वो वापस पृथ्वी की तरफ आ जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि पृथ्वी गुरुत्वाकर्षण (Gravitation) उसे अपनी तरफ खिचता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये गुरुत्वाकर्षण काम कैसे करता है। आज हम आपको गुरुत्वाकर्षण से जुड़ी कई अहम बाते बताने जा रहे हैं।

शोध: दिन के मुकाबले रात में तेजी से बढ़ रही है गर्मी, लुप्त हो सकती हैं कई प्रजातियां !

गुरुत्वाकर्षण का रहस्य

ये तो सब लोग जानते हैं कि पृथ्वी में एक गुरुत्वाकर्षण (Gravitation) शक्ति होती है जिसके कारण हर पदार्थ पृथ्वी की ओर वापस लौट आता है। 17वीं सदी में वैज्ञानिक आइजैक न्यूटन ने गुरुत्वाकर्षण के बारे में पहली बार सबको बताया था।उसके पहले किसी को इसके बारे में पता नहीं था।

न्यूटन ने सबसे पहले गुरुत्वाकर्षण का सार्वभौमिक सिद्धांत (Universal Law) के बारे में बताया था। इसमें कहा गया था कि . मूलतः हर वो वस्तु जिसमें कोई पदार्थ होता है या भार होता है, वह दूसरे भार वाली वस्तु को आकर्षित करती है।

न्यूटन के सार्वभौमिक सिद्धांत (Universal Law) की माने तो हर वस्तु में गुरुत्वाकर्षण है। यानी मेरा लैपटाप मुझे आकर्षित करेगा और मैं अपने लैपटाप को आकर्षित करूंगा। मेरे घर की दिवारे भी मुझे आकर्षित करेगी। यानी हर चीज एक दूसरे को आकर्षित करेगी। लेकिन चीजें सिर्फ नीचे की ही ओर गिरती हैं। इसकी भी एक वजह है। दरअसल, हर चीज दूसरी चीज को आकर्षित करती है लेकिन यह प्रभाव इसलिए नजर नहीं आता। प्रभाव उसी का नजर आता है जिसका भार होता है। जिनमें भार कम होता है उनके प्रभाव को हम देख नहीं पाते।

वायरल: वैज्ञानिकों को नहीं पता कि पृथ्वी की कक्षा में मौजूद 75 फीसदी मलबा आखिर है क्या?

अगर दो वस्तुओं का खिंचाव उनके भार का गुणा के समानुपातिक होता है तो यह बल बहुत ही कम आएगा और उसका व्यवहारिक प्रभाव दिखाई नहीं देगा। अब सवाल उठता है कि पृथ्वी की ओर हर चीज क्यों खिंच जाती है। तो इसका जवाब है पृथ्वी का भार। पृथ्वी का भार इतना ज्यादा होता है कि वो अपने से हर हल्की चीज को अपनी तरफ खिंच लेती है।