रामपुर एसपी के पीआरओ समेत इंटरनेशल कॉल से कई थाना प्रभारियाें काे धमकी, बढ़ाई गई जिले की सुरक्षा

|

Updated: 09 Aug 2020, 12:55 PM IST

रामपुर एसपी के पीआरओ समेत रामपुर में कई थाना प्रभारियाें काे इंटरनेशल कॉल से जिले का महाैल बिगाड़ देने की धमकी मिली है। इन धमकियों के बाद पुलिस ने जिले में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

रामपुर ( rampur ) पुलिस अधीक्षक शगुन गौतम के पीआरओ व थाना सिविल लाइन प्रभारी समेत कई थानेदारों के सीयूजी नम्बरों पर इंटरनेशल कॉल से धमकी आई है। कॉलर ने माहाैल बिगाड़ने की धमकी दी है। कॉलर ने जाे बाते कहीं हैं उनके बाद अफसराें की नींद उड़ गई है। अब पुलिस इन नंबरों काे ट्रैस करने में लगी है। पुलिस अधीक्षक के आदेश पर आनान-फानन में मुकद्दमा दर्ज कर जिले की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

यह भी पढ़ें: 370, तीन तलाक और राम मंदिर के बाद अब सांसद ने पीएम मोदी से इस कानून को बनाने की मांग की

रामपुर पुलिस ( rampur police ) ने प्रेस नाेट जारी करके मीडियाकर्मियों काे बताया कि, प्रभारी निरीक्षक थाना सिविल लाइन, रामपुर व एसपी के पीआरओ समेत थाना प्रभारी शाहबाद, अजीमनगर एवं अन्य थाना प्रभारियों के नम्बरों पर अलग-अलग कॉल आई। यह सभी कॉल इंटरनेशनल थी। इन कॉलर ने दाे वर्गों को लेकर भड़काऊ बातें कही। पुलिस के अऩुसार इन कॉलर ने जाे बाते कही उनसे लोक शांति भंग हाेने का खतरा है। देश की राष्ट्रीय अखंडता पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है और दो सम्प्रदायों में आपसी वैमनस्यता व शत्रुता, घृणा पैदा हो सकती है। इसी आधार पर इन सभी के खिलाफ मुकदमें दर्ज किए गए हैं। अब पुलिस टीमे यह पता लगाने में जुटी हैं कि किन लाेगाें ने इस हरकत काे अंजाम दिया है।

यह भी पढ़ें: बीएड परीक्षा में पहली बार इन दो चीजों के बिना नहीं मिलेगी एंट्री, नोटिफिकेशन जारी

एडिशनल एसपी अरुण कुमार सिंह ने बताया कि, पुलिस विभाग के कई सरकारी नम्बरों पर कुछ अंतराष्टीय फोन कॉल आये। इन कॉल के दाैरान कॉलर ने जिले के दो समुदायों ( वर्गों ) के बीच शान्ति सौहार्द बिगाड़ने की बातें कही।उन्ही फोन कॉल को दृष्टिगत रखते हुए थाना सिविल लाइन के केस दर्ज कर किया गया है। सर्विलांस टीम, साइबर टीम, सकुआइड टीम और खुफिया विभाग के काे सक्रिय कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: अब NDRF के जवानों की वर्दी की शान बढ़ाएगा तिरंगा

पुलिस गश्त बढ़ाई गई है ताकि काेई भी आसामाजिक तत्व जिले की शांति सौहार्द को खराब करने की काेशिश ना कर सके। इन कॉलर का पता लगाने के लिए एक्सपर्ट लगाए गए हैं ताकि इन फोन कॉल की गम्भीता को समझकर ठीक से पता लगा सकें। पुलिस यह भी पता लगाने काेशिश कर रही है कि कॉल दूसरे देश से की गई है या फिर भारत में ही दूसरे देश के सिमकार्ड का इस्तेमाल किया गया है या फिर किसी अन्य तरीके से यह कॉल की गई हैं।