दुष्कर्म पीड़िता को जिंदा जलाने पर भावुक हुए मुस्लिम धर्मगुरु कारी, बोले- हम कब तक अपनी बेटियों को खोएंगे

|

Published: 08 Dec 2019, 12:10 PM IST

Highlights
- मौलाना कारी इसहाक गोरा ने कहा- उन्नाव और हैदराबाद कांड तमाम लोगों के लिए शर्मनाक
- योगी सरकार से की महिला सुरक्षा के लिए कड़ा कानून बनाने की मांग
- कहा- जबसे पीड़िता की मौत की खबर मिली है, तबसे दिल मायूस है

देवबंद. उन्नाव कांड की पीड़िता की मौत के बाद लोगों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। अभी लोग हैदराबाद कांड भूले भी नहीं थे कि उन्नाव कांड ने लोगों को हिलाकर रख दिया है। इस पूरे मामले पर उलमा व धर्मगुरुओं ने भी कड़ी प्रतिक्रिया दी है। मौलाना कारी इसहाक गोरा ने सरकार से जल्द महिलाओं की सुरक्षा के लिए कड़ा कानून लाने की मांग करते हुए उन्नाव के दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग की है।

यह भी पढ़ें- दुष्कर्म पीड़िता को जिंदा जलाने के आरोपियों को सरकार जल्द दिलाएगी कड़ी सजा- डॉ. दिनेश शर्मा

जमीयत दावतुल मुसलीमीन के संरक्षक व प्रसिद्ध आलिम-ए-दीन मौलाना कारी इसहाक गोरा ने उन्नाव कांड में पीड़िता की मौत पर निंदा करते हुए कहा कि जबसे पीड़िता की मौत की खबर मिली है, तबसे दिल मायूस है। पूरा देश पीड़िता के परिवार के साथ खड़ा है। तमाम उलमा बच्ची के परिवार के कठिन वक्त उनके साथ खड़े हैं। गोरा ने कहा कि बड़े अफसोस की बात है कि हम अपनी बेटियों को खोते जा रहे हैं और सरकार महिलाओं की सुरक्षा के लिए कड़ा कानून बनाने में नाकाम है। आखिर कब तक ऐसे ही हम अपनी महिलाओं असुरक्षित हालत में देखेंगे?

कारी इसहाक गोरा ने कहा कि हैदराबाद मे पुलिस ने दोषियों को मार गिराया, जिससे तमाम लोगों ने खुशी मनाई, पुलिस पर फूल बरसाए, जिसको पूरी दुनिया ने देखा। अगर यह सजा दोषियों को अदालत के जरिए मिलती तो अलग ही खुशी होती। आज जरूरत है कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए कड़े कानून बने, जिसमें सरकार को देरी नहीं करनी चाहिए। ऐसा कानून बनाना चाहिए, जो लोगों के लिए एक सीख हो। दोबारा हैदराबाद या उन्नाव जैसा कांड सामने न आए।

यह भी पढ़ें- विभागाध्यक्ष ने की जूनियर महिला डॉक्टर से छेड़छाड़, विरोध में थाने में हंगामा, धरने पर बैठे चिकित्सक