जन्माष्टमी पर लोगों के लिए मुसीबत बना स्मार्ट मीटर, हंगामा देख बिजली घर पर लगानी पड़ी फोर्स

|

Updated: 13 Aug 2020, 11:36 AM IST

Highlights

-स्मार्ट मीटर में लाइट थी, घर में सप्लाई नहीं हो रही थी

-लोगों को कुछ समझ में ही नहीं आया

-त्यौहार के दिन घरों में अंधेरा होने पर लोग बिजली घरों की ओर दौड़ पड़े

सहारनपुर। उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों की तर्ज पर ही जन्माष्टमी पर्व पर सहारनपुर में भी अचानक सैकड़ों घरों की बत्ती गुल हो गई। अचानक बिजली गुल होने से लोग परेशान हो गए और दूसरों की ओर दौड़ पड़े शहरी क्षेत्र की बिजली करो पर इतनी भीड़ हो गई कि पुलिस लगानी पड़ी बाद में किसी तरह लोगों को समझा-बुझाकर शांत किया गया करीब 5 घंटे तक लोग अचानक बत्ती गुल होने से परेशान रहे।

बुधवार रात जन्माष्टमी पर्व था लोग पूजा की तैयारियों में लगे हुए थे कि अचानक उनके घरों की बत्तियां गुल होने लगी। जब लोगों ने बाहर निकल कर देखा तो उनके घरों के बाहर लगे इस स्मार्ट मीटर में तो लाइट थी लेकिन उनके घर में सप्लाई नहीं हो रही थी। लोगों को कुछ समझ में ही नहीं आया ऐसा पहली बार हुआ था जब अचानक लोगों के घरों की बत्तियां गुल हुई। त्यौहार के दिन घरों में अंधेरा होने पर लोग बिजली घरों की ओर दौड़ पड़े। लोगों का गुस्सा उस समय और बढ़ गया जब बिजली घरों पर भी उन्हें कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला।

बिजली घर से लोगों को बस यही जानकारी मिली कि स्मार्ट सिटी मीटर लखनऊ से ही बंद कर दिए गए हैं ऐसा क्यों हुआ है उनके पास कोई जानकारी नहीं है। जब बिजली करो उसे लोगों को यह जवाब मिला तो उनका गुस्सा और बढ़ गया हालात ऐसे हो गए क्या बिजली घरों पर पुलिस तैनात करनी पड़ गई। बिजली घर पर बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हो गए थे लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया इसके बाद घबराए बिजली कर्मचारियों ने खुद को अंदर कमरे में बंद कर लिया और भीड़ से जाने का आग्रह किया लेकिन लोग अपने सवालों का जवाब मांग रहे थे वह पूछ रहे थे कि आखिर उनकी बिजली गई कैसे अगर स्मार्ट मीटर में कोई गड़बड़ी है तो सीधे तार लाइन से जोड़ दो लेकिन त्यौहार है लाइट आनी चाहिए क्योंकि हमने दिल दिया हुआ है।

कई उपभोक्ता यहां अपने बिजली बिल जमा करने की रसीद लेकर पहुंचे थे बाद में पहुंची पुलिस ने लोगों को समझा-बुझाकर शांत किया इस तरह करीब 5 घंटे तक शहर में हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा इसके बाद एक-एक करके लोगों की बिजली सप्लाई शुरू हुई तब जाकर लोगों ने राहत की सांस ली। पावर कॉरपोरेशन ने इस पूरे मामले में बड़ी कार्रवाई करने की बात कही है। पॉवर कॉरपोरेशन के अफसरों के अनुसार लखनऊ से कोई गलत कमेंट किए जाने की वजह से ऐसा हुआ था जिसे बाद में ठीक कर दिया गया और लोगों के मीटर चल गए लेकिन इस घटना ने लोगों को स्मार्ट मीटर से डरा दिया है।