Latest News in Hindi

आदर्श स्टेशन के हाल बेहाल, जगह-जगह फैली गंदगी तो कहीं उखड़े टाइल्स

By Anuj Hazari

Sep, 12 2018 09:00:00 (IST)

सुरक्षा में भी सेंध, अधिकारियों की उदासीनता से हाल बेहाल

बीना. किसी समय पर बीना स्टेशन को आदर्श स्टेशनों में गिना जाता था लेकिन दिनों दिन बिगड़ती व्यवस्थाओं के कारण स्टेशन की गे्रड कम होती जा रही है। जिससे स्टेशन की छवि देश के नक्शे में लगातार बिगड़ती जा रही है लेकिन अधिकारियों को इस बात से कोई मतलब नहीं हैं कि स्टेशन का दर्जा कम क्यों हो रहा है। गौरतलब है कि रेलवे स्टेशन पर जहां तहां अव्यवथाएं फैली हैं जिससे आम जन को भी परेशानी होने लगी है। यदि स्टेशन पर मूलभूत व्यवस्थाओं की बात की जाए तो सबसे पहले तो स्टेशन पर गंदगी से ही छुटकारा नहीं मिल सका है। एप्रोन में गंदगी भरी पड़ी है मानों जैसे महीनों से सफाई नहीं की गई हो। जिसे देख यात्री पहली बार में ही स्टेशन से नजर फेर लेते हैं। जबकि उच्चाधिकारियों द्वारा बीना स्टेशन का निरीक्षण करने के बाद गंदगी मिलने पर फटकार भी लगाई है। स्टेशन से निकलने वाले कचरे को जिस जगह पर डंप किया जाता है उसे कई दिनों तक वहां से उठवाया तक नहीं जाता है।
फुट ओवरब्रिज के उखड़े टाइल्स
रेलवे स्टेशन पर कई जगहों पर टाइल्स उखड़े हैं जिनमें फंसकर कई बार यात्री गिरकर चोटिल भी हो चुके हैं। फुट ओवरब्रिज में लगे टाइल्स उखड़ जाने के कारण लोगों को हमेशा ही गिरने का डर बना रहता है। जब लोग यहां से निकलते हैं तो उखड़े टाइल्स में या तो पैर फंस जाता है या फिर उनके द्वारा ले जाया जा रहा बैग, जिससे लोग गिर जाते हैं।
ओवरब्रिज एक्सटेंशन का काम अधूरा
पश्चिमी कॉलोनी से ओवरब्रिज को तीन व चार नंबर प्लेटफार्म पर जोडऩे वाले फुट ओवरब्रिज का काम भी अधूरा है, जो करीब छह माह से बंद पड़ा है। लेकिन रेलवे अधिकारी अभी तक इसे पूरा कराने के लिए प्रयास नहीं कर रहे हैं। पश्चिमी कॉलोनी के लोगों को शहर से जुडऩे के लिए बनाए जाने वाले इस ब्रिज का काम पूरा न होने के कारण सैकड़ों लोग परेशान हैं लेकिन रेलवे अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं।
सुरक्षा में भी लग रही सेंध
रेलवे स्टेशन पर जगह-जगह से जाली निकाल दी गई हैं जहां से कोई भी असामाजिक तत्व स्टेशन के अंदर आकर घटना को अंजाम दे सकता है। लेकिन रेलवे अधिकारी हाथ पर हाथ रखे बैठे हैं। इसके अलावा रेलवे स्टेशन पर दर्जनों अवैध वेंडर भी खाद्य सामग्री बेचते नजर आते हैं जिनका कोई लेखा जोखा पुलिस के पास नहीं रहता है और वह घटना को अंजाम देने से भी पीछे नहीं हटते हैं।