आपके सारे दुख दूर करने का अचूक उपाय, जानिए इसके फायदे और कब क्या करें?

|

Published: 01 Nov 2020, 05:24 PM IST

धर्म शास्त्रों के अनुसार...

दीप प्रज्वलित करने का त्योहार दीपावली जल्द ही आने वाला है, दीपक के उत्सव के कारण ही इसे दीपोत्सव भी कहा जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दीप जलाने का हमसे अत्यधिक खास नाता भी है। हिंदुओं में या यूं कहे सनातन धर्म में दीपक को अत्यंत पवित्र माना गया है, वहीं इसकी अत्यधिक महिमा के चलते ही पूजा-पाठ, शुभ कार्य, उत्सव या किसी भी त्यौहार पर दीपक जरूर जलाया जाता है। इन सभी की शुरुआत दीप जलाने से ही की जाती है।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार शास्त्रों में दीपक जलाने के एक नहीं बल्कि बहुत से फायदे बताए गए हैं। धर्म शास्त्रों के अनुसार अग्नि पृथ्वी पर सूर्य का बदला हुआ रूप है। ऐसा माना जाता है कि अग्निदेव को साक्षी मानकर उनकी मौजूदगी में किए गए कार्यों में सफलता अवश्य प्राप्त होती है। प्रकाश को ज्ञान का प्रतीक भी माना जाता है।

माना जाता है प्रकाश से केवल मन के सभी प्रकार के विकार ही दूर नहीं होते, बल्कि जीवन के कष्ट भी समाप्त होते हैं। अगर आप सुबह-शाम दीपक जलाते हैं तो इससे आपको कई प्रकार के लाभ मिलते है। ऐसे में आज हम आपको दीपक जलाने के नियम, फायदे और कुछ उपायों के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं।

पूर्णिमा पर दीपदान..
: अग्नि पुराण के अनुसार यदि कोई मनुष्य या ब्राह्मण घर में 1 वर्ष तक दीप दान करता है तो उसको अपने जीवन में वह सब कुछ मिलता है, जिसका या तो वह अभिलाषी है या जिसका वह अधिकारी है ।
: चार्तुमास, पूरे अधिकमास, अधिकमास की पूर्णिमा के दिन मंदिर या पवित्र नदियों के किनारे दीपदान करने वाले मनुष्य को विष्णु लोक की प्राप्ति होती है।
: मान्यता अनुसार दीपदान करते वक्त भगवान स्वयं उपस्थित रहते हैं, इस वजह से अगर उस दौरान आप अपने मन की कोई भी मुराद मांगते हैं तो वह पूरी जरूर होती हैं।

दीपक जलाने के फायदे...
: यदि आप रोजाना सुबह-शाम दीपक जलाते हैं तो दीप की ज्योति से समस्त पाप नष्ट हो जाते हैं और जीवन में सुख-समृद्धि, आयु, सुखमय जीवन में वृद्धि होती है।
: गाय के घी का दीपक जलाने से वातावरण में मौजूद सभी रोगाणु नष्ट हो जाते हैं।
: दीपक जलाने से हमें अपने जीवन में हमेशा ऊंचा उठने की प्रेरणा मिलती है। जीवन का अंधकार दूर हो जाता है।

IMAGE CREDIT: Surefire solution: Take away all the misery and troubles

दीपक जलाने के नियम...
: मान्यता के अनुसार अगर दीपक की लौ उत्तर दिशा की तरफ रखा जाए तो इससे स्वास्थ्य और प्रसन्नता में बढ़ोतरी होती है।
: वहीं अगर आप दीपक की लौ पूर्व दिशा की तरफ रखते हैं तो इससे आयु की वृद्धि होती है।
: अगर आप मिट्टी का दीप जला रहे हैं तो आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि दीपक साफ और साबुत होना चाहिए। पूजा में टूटा हुआ दीपक अशुभ माना जाता है।
: इसके अलावा वास्तु नियम के अनुसार अखंड दीपक पूजा स्थल के आग्नेय कोण में रखना चाहिए, इससे शत्रु पर विजय हासिल होती है और घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।
: माना जाता है कि विषम संख्या में दीपक जलाने से वातावरण में सकारात्मक ऊर्जा का निर्माण होता है, इसी कारण धार्मिक कार्यों में हमेशा विषम संख्या में दीप जलाए जाते हैं।

दीपक के उपाय...
: यश-वैभव की प्राप्ति करने के लिए आप दिवाली के दिन माता लक्ष्मी जी के समक्ष सात मुखी दीपक जरूर जलाएं, इससे माता लक्ष्मी जी प्रसन्न होंगी और जीवन में कभी भी धन की कमी उत्पन्न नहीं होगी।
: यदि आप आर्थिक तरक्की प्राप्त करना चाहते हैं तो पूजा के दौरान गाय के घी का दीपक जलाएं।
: अगर आप दिवाली के दिन घी के दीपक के साथ-साथ तिल के तेल का अखंड ज्योत जलाते हैं, तो इससे देवी-देवता प्रसन्न होते हैं।
: राहु-केतु को शांत करने के लिए अलसी के तेल का दीपक जलाएं।
: अगर आप भगवान विष्णु जी को प्रसन्न करना चाहते हैं तो इसके लिए गोल और गहरा दीपक जला सकते हैं।

IMAGE CREDIT: Surefire solution: Take away all the misery and troubles

दीपकों का अपना अलग-अलग महत्व : कैसा दीपक माना जाता है शुभ...
एक मुखी दीपक हर पूजा-विधान में जला सकते हैं। दूसरा दो मुखी दीपक होता है। यह तब जलाया जाता है जब शत्रु परेशान कर रहे हों या ऑफिस में माहौल ठीक नहीं है। माना जाता है कि ऐसा दीपक जलाने से शत्रु और विरोधी शांत हो जाते हैं। साथ ही तीन मुखी दीपक भी कई बार जलाया जाता है। कहते हैं कि लगातार तीन माह तक इसे जलाने से संतान से संबंधी समस्या दूर हो जाती है। इसके अलावा एक चौमुखी दीपक भी होता है। इस चार मुखी दीपक का धन के मामले में खास महत्व है। माना जाता है कि यदि चौमुखी (चार मुंह वाला) दीपक घी के बाती में रोज शाम को माता लक्ष्मी के सामने जलाया जाए तो धन से संबंधित परेशानी दूर हो जाती है। इस दीपक को लंबे समय तक भी जलाया जा सकता है।