कोरोना संकट में व्यवस्थाओं की समीक्षा करने कोविड सेंटर पहुंचे मंत्री, कहा- 'मरीजों की हर तरह से देखभाल हो'

|

Published: 16 May 2021, 01:58 PM IST

जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. मोहन यादव ने शहर में स्थित शासकीय मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाओं की समीक्षा करने रतलाम पहुंचे। यहां उन्होंने अधिकारियों को कई जरूरी निर्देश दिये।

रतलाम/ मध्य प्रदेश सरकार के उच्च शिक्षा मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. मोहन यादव ने शहर में स्थित शासकीय मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाओं की समीक्षा करने रतलाम पहुंचे। यहां मेडिकल कॉलेज प्रबंधन के साथ बैठक में मंत्री मोहन यादव ने जिम्मेदारों को कई महत्वपूर्ण दिशा निर्देश दिये।

 

पढ़ें ये खास खबर- कोरोना संकट के बीच मेडिकल कॉलेज में अस्थाई कर्मचारियों ने मंत्री को सौंपा ज्ञापन, रखी ये बड़ी मांग

 

देखें खबर से संबंधित वीडियो...

मंत्री बोले- इन बातों का रखें ख्याल

बैठक के दौरान मंत्री यादव ने कहा कि, मेडिकल कॉलेज में आने वाले हर एक मरीज को समुचित उपचार मिले, उसकी पूरी देखभाल हो तथा मरीज के परिजन को भी संतोष प्रद जवाब मिले। इससे हमारी व्यवस्था भी बेहतर होगी तथा मरीजों और उनके परिजन को मनोवैज्ञानिक रूप से सहारा भी मिलेगा।


मेन पावर बढ़ाने के लिए शासन स्तर पर किये जा रहे प्रयास- मंत्री

मंत्री मोहन यादव ने निर्देश देते हुए कहा कि, कॉलेज में मेन पावर बढ़ाने के लिए शासन स्तर पर सभी प्रयास किए जा रहे हैं। स्थानीय स्तर पर भी ये व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. जितेंद्र गुप्ता ने इस दौरान मेडिकल कॉलेज में कार्यरत एवं स्वीकृत स्टाफ की जानकारी दी।

 

पढ़ें ये खास खबर- कोरोना संक्रमण रोकने के लिये CM शिवराज ने मांगा कांग्रेस का साथ, कमलनाथ ने दिया बड़ा आश्वासन


हालात का जायजा लिये बिना ही कर दिया सब दुरुस्त होने का दावा

हालांकि अपने इस दौरे के दौरान भी मंत्री मेडिकल कॉलेज के किसी भी वार्ड का न जायज़ा लिया और न ही किस मरीजी या उनके परिजन से मिलकर समस्या या उपचार संबंधी जानकारी ली। इसके बावजूद उन्होंने खुद ही मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाओं को दुरुस्त बताया। ऐसे में सवाल उठता है कि, जब किसी भर्ती मरिज या उसके परिजन से कॉलेज की व्यवस्थाओं के बारे में जाना ही नहीं, तो उनके दुरुस्त होने का दावा किया क्यों? क्या अधिकारी ही मरिजों के उपचार में बरती जा रही लापरवाहियों की जानकारी मंत्री को दे देंगे?