कोरोना संकट के बीच मेडिकल कॉलेज में अस्थाई कर्मचारियों ने मंत्री को सौंपा ज्ञापन, रखी ये बड़ी मांग

|

Published: 16 May 2021, 01:11 PM IST

रतलाम के शासकीय मेडिकल कॉलेज में अस्थाई रूप से काम पर तैनात स्टाफ नर्स सहित अन्य कर्मचारियों ने शनिवार को मेडिकल कॉलेज पहुंचे प्रभारी मंत्री डॉ मोहन यादव को ज्ञापन सौंपा।

रतलाम/ कोरोना महामारी की शुरुआत से ही मध्य प्रदेश के रतलाम स्थित शासकीय मेडिकल कॉलेज में अस्थाई रूप से काम पर तैनात स्टाफ नर्स सहित अन्य कर्मचारियों ने शनिवार को मेडिकल कॉलेज पहुंचे प्रभारी मंत्री डॉ मोहन यादव को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान सभी ने मंत्री के समझ मांग रखी कि, बीते एक साल से वो लोग फ्रंट लाइन में रहकर यहां आने वाले मरीजों के हित में काम कर रहे हैं। ऐसे में उन्हें मेडिकल कॉलेज में संविदा पर नियुक्त किया जाए। इसके साथ ही, उन्होंने अपनी अन्य परेशानियां के संबंध में भी प्रभारी मंत्री को अवगत कराया। इसपर मंत्री डॉ. यादव ने सभी को आश्वस्त किया कि, जो भी उनके लिये बेहतर होगा सरकार करेगी।

 

पढ़ें ये खास खबर- कोरोना संक्रमण रोकने के लिये CM शिवराज ने मांगा कांग्रेस का साथ, कमलनाथ ने दिया बड़ा आश्वासन

 

देखें खबर से संबंधित वीडियो...

अस्थाई कर्मचारियों ने मंत्री से की ये मांग

मेडिकल कॉलेज के अस्थाई कर्मचारियों ने ज्ञापन सौंपते हुए प्रभारी मंत्री को बताया कि, उन्हें मार्च 2020 में शासन द्वारा अस्थाई तौर पर भर्ती किया गया था और समय-समय पर उनकी कार्य अवधि बढ़ाई जाती रही। शासन के आह्वान पर महामारी के समय में सभी लोग देश हित में मानव सेवा के लिए काम कर रहे हैं। अस्थाई स्टाफ के अधिकारी और कर्मचारी सभी लोग महामारी के इस दौर में बिना छुट्टी के मानव सेवा में लगे हुए हैं और शासन का सहयोग कर रहे हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- Patrika Positive News : कोरोना काल में उठे मदद के हाथ, कोई कोविड मरीजों की कर रहा मदद, कोई बना उनके परिजन का सहारा


कर्मचारियों का मंत्री से निवेदन

महामारी के बाद शासन द्वारा हमें बाहर का रास्ता दिखा कर नई संविदा भर्ती के द्वारा रिक्त स्थानों पर भर्ती करने की तैयारी कर रहा है। वर्तमान में एनएचएम द्वारा जो भर्ती के लिए विज्ञप्ति निकाली गई है, उसमें आयुष चिकित्सक एवं फार्मासिस्ट की विज्ञप्ति जारी की गई है। ऐसे में निवेदन है कि, दोनों पदों पर अस्थाई कोविड-19 स्टाफ को संविदा में नियुक्त कर आगे सेवा देने का अवसर दें। कोई स्टाफ नर्स सहित अन्य भर्तियों में भी अस्थाई कर्मचारी जो वर्तमान में काम कर रहे हैं उन्हें प्राथमिकता के साथ रिक्त पदों पर संविदा पर संविलियन करें।